Breaking News:

महिला ब्लाइंड क्रिकेट : उड़ीसा की दूसरी धमाकेदार जीत -

Saturday, December 15, 2018

कहीं भी रहें, अपनी लोकसंस्कृति एवं लोक परंपराओं से जुड़े रहेंः माता मंगला -

Saturday, December 15, 2018

एनएच-74 घोटाला : बिल्डर प्रिया शर्मा ने जिला कोर्ट में किया सरेंडर -

Saturday, December 15, 2018

जनता के लिए वरदान बन रहा उत्तराखण्ड सीएम एप…. -

Saturday, December 15, 2018

पहचान : समाजसेवी विजय कुमार नौटियाल को उत्तराखंड गौरव सम्मान -

Saturday, December 15, 2018

कैबिनेट की मुहर : शिक्षकों के लिए 7वें वेतनमान को मंजूरी -

Friday, December 14, 2018

राफेल को लेकर राहुल गांधी ने झूठ फैलाने का किया कार्य : सीएम त्रिवेंद्र -

Friday, December 14, 2018

बर्फबारी के बाद केदारनाथ में मौसम हुआ साफ -

Friday, December 14, 2018

उत्तराखण्ड : सीएम एप से पहली बार बिजली से रोशन हुए कई दूरस्थ गाँव -

Friday, December 14, 2018

आईसीआईसीआई बैंक ने जोड़े ‘ईजीपे‘ पर 1.93 लाख से अधिक ग्राहक -

Friday, December 14, 2018

प्रेसवार्ता : लापता संत गोपालदास की बरामदगी न होने पर रोष -

Thursday, December 13, 2018

हाउस टैक्स को लेकर गामा और चमोली आमने सामने -

Thursday, December 13, 2018

उत्तराखंड : 22 आईपीएस अधिकारियों को समय से पहले हटाया गया -

Thursday, December 13, 2018

अजब गजब : जेठानी ने की नाबालिग के साथ शारीरिक शोषण -

Thursday, December 13, 2018

त्रिवेंद्र सरकार द्वारा आंगनबाङी कार्यकत्रियों को नए वर्ष की सौगात, जानिये खबर -

Thursday, December 13, 2018

बढ़ते अपराधों के बीच दूनवासी दहशत में , जानिए खबर -

Wednesday, December 12, 2018

14 दिसंबर को होगा ‘अपहरण’ सामने , जानिए खबर -

Wednesday, December 12, 2018

कुलपति सम्मेलन 20 दिसम्बर को राजभवन में -

Wednesday, December 12, 2018

दो मुंहा सांप के चक्कर में गए जेल , जानिए खबर -

Wednesday, December 12, 2018

फर्जी पीसीएस अधिकारी को पुलिस ने दबोचा -

Wednesday, December 12, 2018

उत्तराखंड विधानसभा सत्र : अनेक मुद्दों पर हुई चर्चा

vidhansabha_uttarakhand

देहरादून। राज्य विधानसभा का मानसून सत्र मंगलवार को प्रारंभ हुआ। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही महंगाई के मामलों को कार्यस्थगन के तहत चर्चा की मांग को लेकर विपक्षी कांग्रेस ने हंगामा किया। स्पीकर के नियम 58 के तहत मामले को सुनने के आश्वासन पर कांग्रेस विधायक शांत हुए। इसके बाद प्रश्नकाल शुरू हुआ, जो कि सुचारु रूप से चला। प्रश्नकाल के दौरान विधायक अपने सवालों के माध्यम से मंत्रियों को घेरने की कोशिश में जुटे रहे। कई अनुपूरक प्रश्नों का जवाब देते वक्त मंत्री फंसते नजर आए। सदन की कार्यवाही पूर्वाहन 11 बजे शुरु होते ही विपक्ष ने महंगाई का मुद्दा उठाते हुए इस पर कार्यस्थगन के तहत चर्चा की मांग को लेकर हंगामा शुरु कर दिया। इस पर विधानसभा स्पीकर प्रेमचंद अग्रवाल द्वारा व्यवस्था दी गई कि इस मुद्दे को नियम-58 के तहत सुन लिया जाएगा, उसके बाद विपक्ष शांत हुआ और प्रश्न सुचारु रूप से चल सका। कांग्रेस विधायक ममता राकेश द्वारा पूछे गए प्रश्न के जवाब में समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्य ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2017-18 के राज्य के वार्षिक आय-व्ययक में 42798.31 करोड़ रुपये की धनाशि का प्रावधान किया गया है। भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह जीना के एक सवाल के जवाब में समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्य ने बताया कि नवजात पुत्री व मां का संयुक्त खाता खोले जाने का प्राविधान है। माता के जीवित न होने पर नवजात पुत्री व पिता अथवचा माता-पिता दोनों के राष्ट्रीयकृत बैंकों के कार्यशील सभी सरकारी, अर्द्धसरकारी व निजी बैंकों में भी संयुक्त खाता खोले जाने के लिए अधिकृत हैं। विधायक सुरेंद्र सिंह जीना के एक अन्य तारांकित सवाल के जवाब में समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्य ने कहा बताया कि राज्य सरकार द्वारा महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के दृष्टिगत महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग और समाज कल्याण विभाग की कल्याणकारी योजनाओं को एकीकृत कर नंदा गौरा योजना संचालित की जा रही है। नंदा गौरा योजना का मूल उद्देश्य कन्य भू्रण हत्या पर रोक लगाना, बाल विवाह रोकना, समाज में लैंगिक असमानता को दूर करना, उन्हें उच्च शिक्षा प्रदान कर आत्मनिर्भर बनाना है। जिसके लिए 36000 रु ग्रामीण क्षेत्र में और 42000 रु शहरी क्षेत्र में वार्षिक आय वाले उन परिवार की प्रथम दो बालिकाओं के लिए जन्म से विवाह तक विभिन्न चरणों में कुल 51000 की आर्थिक सहायता ई पेमेंट के माध्यम से धनराशि उपलब्ध कराने की व्यवस्था है। विधायक देशराज कर्णवाल के भिक्षावृत्ति से संबंधित तारांकित प्रश्न के जवाब में समाज कल्याण मंत्री ने बताया कि उत्तर प्रदेश भिक्षावृत्ति प्रतिषेध अधिनियम 1975 संपूर्ण उत्तराखंड में लागू किया गया है, जिसके अंतगर्त विभावृत्ति के रोकथाम के लिए किए गए प्राविधानानुसार कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है। विधायक प्रीतम सिंह पंवार के तारांकित प्रश्न के जवाब में पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने बताया कि टिहरी विशेष क्षेत्र पर्यटन विकास प्राधिकरण की स्थापना के उपरांत प्राधिकरण बोर्ड का गठन करते हुए मुख्य कार्यपालक अधिकारी की नियुक्ति की गई है। टिहरी विशेष क्षेत्र पर्यटन विकास प्राधिकरण के लिएस 24 पदों की स्वीकृति दी जा चुकी है। वर्तमान में टिहरी जलाशय में साहसिक पर्यटन की गतिविधियों को बढ़ावा देने एवं स्थानीय लोगों को रोजगार मुहैया करवाने के लिए साहसिक क्रीड़ा के 48 लाईसेंस निर्गत किए जा चुके हैं।

Leave A Comment