Breaking News:

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1153 आज 68 नए मरीज मिले -

Thursday, June 4, 2020

पांच जून को अधिकांश जगह बारिश की संभावना -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1145 -

Thursday, June 4, 2020

जागरूकता और सख्ती पर विशेष ध्यान हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, June 4, 2020

दुःखद : बॉलीवुड कास्टिंग निदेशक का निधन -

Thursday, June 4, 2020

वक्त का फेर : चैम्पियन तीरंदाज सड़क पर बेच रही सब्जी -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या 1085 हुई , 42 नए मरीज मिले -

Wednesday, June 3, 2020

अभिनेत्री ने जहर खाकर की खुदकुशी, जानिए खबर -

Wednesday, June 3, 2020

मुझे बदनाम करने की साजिश : फुटबॉल कोच विरेन्द्र सिंह रावत -

Wednesday, June 3, 2020

मोदी 2.0 : पहले साल लिए गए कई ऐतिहासिक निर्णय -

Wednesday, June 3, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 1066 हुई -

Wednesday, June 3, 2020

सराहनीय पहल : एक ट्वीट से अपनों के बीच घर पहुंचा मानसिक दिव्यांग मनोज -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1043 -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में करें अब आनलाईन आवेदन -

Tuesday, June 2, 2020

10 वर्षीय आन्या ने अपने गुल्लक के पैसे देकर मजदूर का किया मदद -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 999 हुई, 243 मरीज हुए ठीक -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 958 -

Monday, June 1, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या 929 हुई, चम्पावत में 15 नए मामले मिले -

Monday, June 1, 2020

जागरूकता: तंबाकू छोड़ने की जागरूकता के लिए स्वयं तत्पर होना जरूरी -

Monday, June 1, 2020

मदद : गांव के छोटे बच्चों को पढ़ा रही भावना -

Monday, June 1, 2020

उत्तराखंड से बाहर होंगे गुलदार

 cm-rawat
 मानवीय बस्तियों में गुलदार आदि के घुस आने की घटनाओं को रोकने के लिए वन विभाग प्रभावी कार्ययोजना तैयार करें। मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सोमवार को विधान सभा स्थित अपने कार्यालय में वन विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर निर्देश दिये कि मानव-वन्यजीव संघर्ष को गम्भीरता से लिया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि गुलदारों की संख्या प्रदेश की क्षमता से अधिक हो गई है। ऐसे गुलदारों को प्रदेश से बाहर शिफ्ट करने के लिए केन्द्र सरकार को तत्काल पत्र भेजा जाय। उन्होंने कहा कि गुलदार के कारण हो रही घटनाओं पर प्रभावी रोक लगाने के लिए ठोस कार्ययोजना तैयार की जाय। खाद्य श्रंखला को फिर से बनाए जाने की आवश्यकता है। प्रत्येक फारेस्ट डिवीजन स्तर पर हिरन सहित अन्य छोटे जानवरों के लिए एक-एक प्रजनन केन्द्र विकसित किया जाय। गढ़वाल व कुमायूं में एक-एक लेपर्ड सफारी बनाये जाय। इसके साथ ही जंगलों में चैडी पत्तीदार व फलदार वृक्षों के रोपण पर कार्य किया जाय। जंगलों के किनारे के गांवों में सोलर लाईट लगाने के लिए ठोस कार्ययोजना बनाये। भारत सरकार और जायका जैसी योजनाओं को प्रस्ताव भेजे जाय, कि जंगल के किनारे बसे गांवों में बिजली, झाडी कटान, शौचालय आदि की व्यवस्था हेतु सहयोग किया जाय। वन विभाग ऐसी कार्ययोजना बनाये, जिसमें बुरांश, बांज व फलदार वृक्ष का रोपण किया जाय।बैठक में वन मंत्री दिनेश अग्रवाल, प्रमुख सचिव वन रणबीर सिंह, मुख्य वन्य जीव प्रतिपालक डी.एस.खाती, अपर प्रमुख वन संरक्षक एस.टी.एस.लेप्चा आदि उपस्थित थे।

Leave A Comment