Breaking News:

अरविंद पांडेय ने हरेला कार्यक्रम के अंर्तगत “मेरा गांव हरा भरा गांव” अभियान का किया शुभारंभ -

Monday, July 6, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3161, आज कुल 37 नए मरीज मिले -

Monday, July 6, 2020

विरेन्द्र सिंह रावत बने खेलों मास्टर गेम्स फाउंडेशन इंडिया उत्तराखंड के महासचिव -

Monday, July 6, 2020

उत्तराखंड के हित में सदैव करते रहेंगे धरने प्रदर्शनः आप -

Monday, July 6, 2020

डॉ0 रमेश पोखरियाल ’निशंक’ ने पब्लिक रिलेशंस सोसायटी ऑफ इण्डिया के ’विजय भारत अभियान’ का किया शुभारम्भ -

Monday, July 6, 2020

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में गड़बड़ी पर डीएसओ होंगे जिम्मेवार : सीएम त्रिवेंद्र -

Monday, July 6, 2020

सीएम त्रिवेंद्र ने कहा कोविड-19 को लेकर पांच बातों पर विशेष जोर जरूरी, जानिए खबर -

Sunday, July 5, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3124, आज कुल 31 नए मरीज मिले -

Sunday, July 5, 2020

अनुष्का विराट और कोरोना महामारी का समय …… -

Sunday, July 5, 2020

उत्तराखंड : तीन महिलाओं की कोसी नदी में डूबने की खबर, एक महिला का मिला शव -

Sunday, July 5, 2020

जरा हटके : यह शख्स सोने के मास्क का कर रहे उपयोग -

Sunday, July 5, 2020

देहरादून : सिटी बस संघ के 145 चालकों एवं परिचालकों को दिया राशन -

Saturday, July 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3093, आज कुल 45 नए मरीज मिले -

Saturday, July 4, 2020

कोरोना की लड़ाई में लगातार सतर्कता जरूरी: सीएम उत्तराखंड -

Saturday, July 4, 2020

आरडी प्रोडक्शन पूरे करेगा मॉडलिंग और एक्टिंग के सपने , जानिए खबर -

Saturday, July 4, 2020

“दिल बेचारा” सुशांत की आखिरी फ़िल्म को लेकर खुलासा -

Saturday, July 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3048, आज कुल 64 नए मरीज मिले -

Friday, July 3, 2020

आरटीआई कार्यकर्ता सैफअली सिद्दीकी के पत्र पर राज्य अल्पसंख्यक आयोग ने जांच के आदेश दिए , जानिए खबर -

Friday, July 3, 2020

उत्तराखंड में बने जड़ी बूटी मंडी : डा. राणा -

Friday, July 3, 2020

त्रिवेन्द्र सरकार ने जारी की 11 करोड़, जानिए क्यों -

Friday, July 3, 2020

उत्तराखंड : 2019 वर्ष पुलिस के लिए रहा चुनौती पूर्ण

देहरादून । उत्तराखण्ड पुलिस के लिए वर्ष 2019 चुनौतियों भरा रहा है। इस साल जहंा अपराधों में खासी बढोत्तरी दर्ज की गयी वहीं इस वर्ष चुनावी अथवा अन्य कारणों से हुए वीआईपी मूवमेंट में भी तेजी देखी गयी। जिनकी सुरक्षा के साथ ही शांतिपूर्ण लोकसभा व पंचायत चुनाव करवाना भी पुलिस के लिए एक चुनौती पूर्ण कार्य रहा है। जबकि नशा कारोबार पर लगाम कसना पुलिस के लिए सिरदर्द ही बना रहा।यू तो उत्तराखण्ड प्रदेश अपराधों के मामलों में अन्य प्रदेशों से काफी शांत माना जाता रहा है। लेकिन यह वर्ष बढ़ते अपराधों की दृष्टि से भी पुलिस के लिए काफी चुनौतियों भरा रहा। बढ़ते अपराधों ने जहंा जनता का चैन तो छीना ही साथ ही मित्र पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठाये। हालांकि पुलिस ने राज्य भर में हुए अपराधों का तकरीबन खुलासा कर दिया और अपराधियों को सलाखों के पीछे भेजा। लेकिन फिर भी इस वर्ष अपराधों का ग्राफ अन्य वर्षो की तुलना मेें ज्यादा रहा।उत्तराखण्ड प्रदेश में इस साल लूट के 122, हत्या के 175, महिला अपहरण के 273 व चोरी के 838 मामले दर्ज किये गये है। जबकि देखा जाये तो पिछले वर्षो की तुलना में महिलाओं से जुड़े अपराधों में भी तेजी ही दिखायी दी। जिनमें दहेज हत्या के 52 मामले व दुष्कर्म के 499 मामले सामने आये है। साइबर अपराधों के ग्राफ में भी इस बार तेजी देखी गयी है जिनमेें 228 मुकदमें दर्ज किये गये है। वहीं राज्य भर में नशे कारोबार के बढ़ते नेटवर्क को भी पुलिस पूरी तरह तोड़ने मे नाकाम रही है। इस मामले में डीजी ला एण्ड आर्डर अशोक कुमार का कहना है कि राज्य पुलिसिंग के लिए बेहतर प्रयास किये जा रहे है। जिनसे बढ़ते अपराधों पर लगाम कसी जा सकेगी।

Leave A Comment