Breaking News:

5 दिसम्बर को उप राष्ट्रपति उत्तराखण्ड दौरे पर -

Friday, November 24, 2017

जब डीएम इवा ने छात्रों से पूछे सवाल. जानिए खबर -

Friday, November 24, 2017

ईवीएम मशीनों के प्रति भ्रम हो दूर : हरजिंदर -

Friday, November 24, 2017

हर माह छोटे व्यापारियों को भी जी.एस.टी रिटर्न फाइल करना होगा ! -

Friday, November 24, 2017

उत्तराखंड : नगर निकाय चुनाव अप्रैल माह में ! -

Friday, November 24, 2017

उत्तराखंड : भारत सरकार ने दो परियोजनाओं के लिए 1300 करोड़ किये स्वीकृति -

Thursday, November 23, 2017

कबाड़ में काम करने वाला शख्स ने बनाई इतनी महंगी कार, जानिये खबर -

Thursday, November 23, 2017

सागरिका घाटगे से जहीर खान ने की शादी ! -

Thursday, November 23, 2017

आखिर यह लड़की किस क्रिकेटर की बनने वाली है भाभी, जानिये खबर … -

Thursday, November 23, 2017

अनुज मिस्टर फ्रेशर और अंकिता चुनी गई मिस फ्रेशर -

Wednesday, November 22, 2017

जिलाधिकारी नैनीताल दीपेंद्र चौधरी का जरूरतमंद बच्चो के प्रति अनोखी पहल -

Wednesday, November 22, 2017

जगुआर ने राइनो को 4 विकेट से हराया -

Wednesday, November 22, 2017

बच्चों की शिक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिए : सीएम -

Wednesday, November 22, 2017

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चारधाम आॅल वेदर रोड निर्माण की प्रगति पर किया संतोष व्यक्त -

Wednesday, November 22, 2017

एमबीए की डिग्री, बेटा अमेरिका में इंजीनियर पर गलियों में मांग रही थी भीख ! -

Tuesday, November 21, 2017

सीएम से एडिशनल डायरेक्टर जनरल एन.सी.सी ने की मुलाक़ात -

Tuesday, November 21, 2017

सफारी वाहनों का संचालन होगा काॅर्बेट टाइगर रिजर्व कोटद्वार में -

Tuesday, November 21, 2017

एडीजी ने एसटीएफ की कार्यक्षमता बढ़ाने को लेकर दिए दिशा-निर्देश -

Tuesday, November 21, 2017

मत्स्य पालन में जागरूकता की कमी : सीएम -

Tuesday, November 21, 2017

जब अपहरणकर्ताओं पर भारी पड़ा 9 साल का बच्चा, जानिए खबर -

Monday, November 20, 2017

उत्तर प्रदेश में लगेगा राष्ट्रपति शासन !

akhileshmulyamshivpal

लखनऊ। समाजवादी पार्टी में मची कलह क्लाईमेक्स पर पहुंच गई है। राजनीतिक विश्लेषकों की माने तो अगले 24 घण्टे सपा के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव खेमा अपनी-अपनी ताकत का प्रदर्शन करेगा। राजनीतिक विश्लेषक व वरिष्ठ स्तम्भकार राजनाथ सिंह सूर्य की मानें तो 23 अक्टूबर की रात सपा के भविष्य के लिए ‘कत्ल’ की रात और 24 तारीख ‘विघटन’ का दिन हो सकता है। उन्होंने कहा कि चाचा नहीं, मुलायम सिंह बाप व अखिलेश यादव बेटे के बीच की लड़ाई है। शिवपाल यादव एक बहाना मात्र हैं। उन्होंने कहा कि सत्ता से सम्पन्नता जब बढ़ती है, तो ऐसा होना स्वाभाविक होता है। सपा के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवपाल यादव की मंत्रिमंडल से बर्खास्तगी के बाद अखिलेश सरकार पर भी संकट के बादल छा गए हैं। सपा सूत्रों की मानें तो अखिलेश को मुख्यमंत्री के पद से अपदस्थ करने के लिये राज्यपाल को चिठ्ठी लिखी जा सकती है। इस राजनीतिक घटनाचक्र के बाद सपा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पद से हटाने की कोशिश करेगी। सूत्रों ने यह भी बताया कि मुख्यमंत्री पद पर रहते अखिलेश यादव भी बड़ा गेम चल सकते हैं। वे राज्यपाल को चिठ्ठी लिखकर विधानसभा को भंग करा सकते हैं। राजनीतिक विश्लेषकों की मानें तो उत्तर प्रदेश एक बार फिर राष्ट्रपति शासन की तरफ बढ़ रहा हैं। अगर ऐसा होता है तो 14 साल बाद एक बार फिर यूपी में राष्ट्रपति शासन लगेगा। खबर है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 17 विधायकों व मंत्रियों के मोबाइल फोन जमा कराए हैं। दोनों खेमों की ओर से ताबड़तोड़ लिए जा रहे फैसले से जल्द ही कोई बड़ा फैसला हो सकता है। रामगोपाल यादव से अखिलेश यादव सीधे सम्पर्क में हैं। यूपी के इस राजनीतिक उठापटक को लेकर केन्द्र में भी सरगर्मी बढ़ गई है। उल्लेखनीय है कि समाजवादी पार्टी सपा के सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने 24 अक्टूबर को पार्टी के सभी विधायकों, एमएलसी, पूर्व सांसदों, ब्लाॅक सदस्यों समेत पार्टी के सभी पदाधिकारियों को एक बड़ी बैठक बुलाई है। उसके पहले ही मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विधानमण्डल की बैठक बुलाकर शिवपाल समेत उनके समर्थकों को मंत्रिमण्डल से बाहर का रस्ता दिखाकर सापफ कर दिया है कि सरकार चलाने में किसी का हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं करेंगे।

Leave A Comment