Breaking News:

जरा हट के : ब्याज पर पैसे लेकर ग्रामीणों ने खुद बनाई डेढ़ सौ मीटर लम्बी सड़क -

Sunday, November 18, 2018

देहरादून : दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली युवती के सोमवार को दर्ज होंगे बयान -

Saturday, November 17, 2018

वरिष्ठ पत्रकार अनूप गैरोला का निधन -

Saturday, November 17, 2018

मिस उत्तराखंड : मिस रेडिएंट स्किन एंड ब्यूटीफुल हेयर सब प्रतियोगिता का आयोजन -

Saturday, November 17, 2018

सभी नागरिक अपने मताधिकार का करे प्रयोग : सीएम -

Saturday, November 17, 2018

मतदाता चुनेेंगे शहर की सरकार …. -

Saturday, November 17, 2018

राष्ट्र निर्माण में युवाओं की भूमिका अहम -

Friday, November 16, 2018

चैटर्जी बहनों द्वारा बांसुरी प्रदर्शन का आयोजन -

Friday, November 16, 2018

आखिरी दिन कांग्रेस ने रोड शो में झोंकी ताकत -

Friday, November 16, 2018

स्टिंग ऑपरेशन केस : उमेश शर्मा को मिली जमानत -

Friday, November 16, 2018

त्रिवेंद्र एवं अजय भट्ट ने मांगे भाजपा प्रत्याशियों के लिए वोट -

Friday, November 16, 2018

निकाय चुनाव : 9399 लाइसेंसी शस्त्रों को किया गया जमा -

Friday, November 16, 2018

भारतीय लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के रूप में प्रेस की महत्वपूर्ण भूमिका : सीएम -

Thursday, November 15, 2018

स्टिंग मामला : नार्को व ब्रेन मैपिंग टेस्ट पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक -

Thursday, November 15, 2018

हिमालया ने लॉन्च किया ‘‘खुश रहो, खुशहाल रहो’’ -

Thursday, November 15, 2018

नजूल भूमि पर बसे किसी भी परिवार को उजड़ने नहीं दिया जायेगा : सीएम -

Thursday, November 15, 2018

मेयर प्रत्याशी सुनील उनियाल गामा ने जनसंपर्क कर मांगे वोट -

Wednesday, November 14, 2018

भ्रष्टाचार तथा ब्लैकमनी पर बनाई गई पेंटिंग को खूब सराहा गया , जानिए खबर -

Wednesday, November 14, 2018

मधुमेह बढ़ाता है दिल के दौरे का खतरा ….. -

Wednesday, November 14, 2018

यूनाईटेड नेशस डेवलपमेंट प्रोग्राम के सदस्यों ने सीएम से की भेटवार्ता -

Wednesday, November 14, 2018

खेल मंत्री ने ब्रॉन्ज से चूके लक्ष्मणन को किया सम्मानित, जानिए खबर

govindan

नई दिल्ली | खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने बातया की जब चैंपियन निराश हों, तो उनका मनोबल बढ़ाने के लिए उनकी पीठ थपथपाने की जरूरत होती है। इससे खिलाड़ी का हौसला मजबूत होता है और अपनी अगली परफॉर्मेंस में वे वही जी-जान लगा देते हैं, जो उनको विजेता बना दे। खेल मंत्री राज्यवर्धन ने एशियाई खेलों की 10,000 मीटर दौड़ स्पर्धा में नाटकीय अंदाज में डिस्क्वॉलिफाइ होने वाले खिलाड़ी गोविंदन लक्ष्मणन को 10 लाख रुपये की राशि से सम्मानित किया। खेल मंत्रालय ने लक्ष्मणन को उतनी ही राशि दी है, जितनी उसने इन खेलों में ब्रॉन्ज मेडल हासिल करने वाले खिलाड़ियों को इनाम के रूप में दी है। इस दौड़ में लक्ष्मणन तीसरे स्थान पर थे, लेकिन तकनीकी आधार पर उन्हें डिस्क्वॉलिफाइ होना पड़ा।हाल ही जकार्ता में संपन्न हुए एशियंस गेम्स की ऐथलेटिक्स की 10,000 मीटर दौड़ स्पर्धा से एक और ब्रॉन्ज मेडल आता, लेकिन तकनीकी आधार पर भारत को यह मेडल गंवाना पड़ा। भारत के गोविंदन लक्ष्मणन इस रेस में तीसरे स्थान पर थे। लेकिन अपनी दौड़ के दौरान वह भूलवश अपनी लेन से भटक गए और बाद में रेफरियों ने विडियो फुटेज देखकर उन्हें डिस्क्वॉलिफाइ कर दिया। लक्ष्णन के साथ-साथ पूरे देश के लिए यह छोटी सी भूल निराशाजनक रही। हालांकि खेल मंत्रालय ने इसके बावजूद लक्ष्णन की मेहनत और जज्बे की सराहना की है। खेल मंत्री ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। अपने ट्वीट में राठौड़ ने लिखा, ‘एशियाई खेलों की 10,000 मीटर दौड़ स्पर्धा में गोविंदन लक्ष्मणन ने मेडल-विनिंग परफॉर्मेंस दी, लेकिन एक छोटी सी तकनीकी गलती से उन्हें डिस्क्वॉलिफाइ होना पड़ा।’

Leave A Comment