Breaking News:

उत्तराखंड को 18 साल बाद बीसीसीआइ से मिली मान्यता जानिए ख़बर -

Tuesday, June 19, 2018

सीएम से पांच देशों की सागर परिक्रमा पूर्ण करने वाली लेफ्टिनेंट कमाण्डर वर्तिका एवम उनकी टीम ने की भेंटवार्ता -

Tuesday, June 19, 2018

देवभूमि से एक और लाल हुआ शहीद, जानिए ख़बर -

Tuesday, June 19, 2018

महिला अधिकारी योग के प्रति की जन जागरुकता -

Tuesday, June 19, 2018

पेट्रोल, डीजल पर उत्पाद शुल्क में कटौती की संभावना को अरुण जेटली ने किया खारिज -

Tuesday, June 19, 2018

मुख्यमंत्री ने शहीद जवान विकास गुरूंग को श्रद्धांजलि दी -

Monday, June 18, 2018

सत्येंद्र जैन और मनीष सिसोदिया की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती -

Monday, June 18, 2018

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र से केन्द्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री रामकृपाल यादव ने की शिष्टाचार भेंट -

Monday, June 18, 2018

आयरनमैन बनाम अल्ट्रामैन जानिए ख़बर -

Monday, June 18, 2018

आॅडिशन में प्रतिभागियों ने बिखेरे जलवे, जानिए ख़बर -

Monday, June 18, 2018

मैड संस्था ने चलाया सफाई अभियान, जानिए ख़बर -

Monday, June 18, 2018

मैक्सिको ने गत चैंपियन जर्मनी को 1-0 से हराया जानिए ख़बर -

Monday, June 18, 2018

इस देश में फेसबुक, वॉट्सएेप, ट्विटर चलाने पर देना होगा टैक्स जानिए ख़बर -

Monday, June 18, 2018

उत्तराखण्ड न्यू-इंडिया में महत्वपूर्ण भागीदारी के लिए संकल्पबद्ध : मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र -

Sunday, June 17, 2018

छोटे-छोटे प्रयास लाता है बड़ा परिणाम : हरक सिंह रावत -

Sunday, June 17, 2018

केजरीवाल के समर्थन में आए ममता बनर्जी सहित चार राज्यों के मुख्यमंत्रियों जानिए ख़बर -

Sunday, June 17, 2018

एक मिस कॉल, और डांस की सबसे ऊंची सीढ़ी, जानिए ख़बर -

Sunday, June 17, 2018

अक्षय कुमार की फिल्म गोल्ड’ का नया टीजर रिलीज -

Sunday, June 17, 2018

प्रदूषण रोकने के लिए क्या किया? : दिल्ली हाईकोर्ट -

Sunday, June 17, 2018

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र व मंत्रियों ने किया वाॅक फाॅर योग, जानिए ख़बर -

Saturday, June 16, 2018

‘‘गढ़वाली गाथाओं में लोक और देवता’’ नामक पुस्तक का विमोचन

pustak vimochan

देहरादून, एक ऐसा राज्य गीत तैयार किए जाने की आवश्यकता है जिसमें उत्तराखण्ड के प्रत्येक क्षेत्र का समावेश हो। मोबाईल युग की युवा पीढि को लोक संस्कृति से जोड़े रखने के लिए विशेष प्रयास करने होंगे। हमारी लोक संस्कृति की समृद्ध परम्परा है। इसे बचाए रखने के लिए प्रबुद्धजनों को आगे आना होगा। राज्य सरकार इसमें हर प्रकार का सहयोग देने को तैयार है। रविवार को बीजापुर में शोध पुस्तक ‘‘गढ़वाली गाथाओं में लोक और देवता’’ पुस्तक का विमोचन करते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि लोकसंस्कृति के संरक्षण के लिए सरकार हर सम्भव प्रयास कर रही है। जनजातिय संस्कृति के संरक्षण के लिए दो संग्रहालय बनाये जा रहे हैं। वाद्ययंत्रों के संरक्षण के लिए भी दो संग्रहालय बनाए जाएंगे। राज्य के वाद्ययंत्र का चयन करने के लिए समिति द्वारा विचार किया जा रहा है। सीएम ने पुस्तक के लेखक डाण्वीरेंद्र बत्र्वाल को बधाई देते हुए कहा कि पुस्तक में इतिहास को लोकगाथाओं व लोकदेवताओं के साथ लिया गया है। उत्तराखण्ड की संस्कृति बहुत समृद्ध है। जागर को महत्वपूर्ण बताते हुए उन्होंने कुमायंूए गढ़वाल सहित पूरे प्रदेश के जागर को संहिताबद्ध करने की आवश्यकता पर बल दिया। दून विश्वविद्यालय को जागर को संहिताबद्ध करने व पांडुलिपियों को संरक्षित करने के लिए कहा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड की भाषाओं को बोलियों के स्तर से आगे बढ़ाकर देश की आधिकारिक भाषा में शामिल करने के लिए यहां के लेखकों को प्रयास करने होंगे। लोकसंस्कृति पर पुस्तकों के लेखन के लिए सरकार मदद करेगी। उन्होंने लोकगीतकारों का आह्वान किया कि एक ऐसा राज्य गीत बनाया जाए जिसमें यहां के सभी क्षेत्रों की भाषाओं का समावेश हो। सरकार इस पर पुरस्कार राशि का भी प्राविधान करेगी। शिक्षा मंत्री मंत्रीप्रसाद नैथानी ने डाण्बत्र्वाल को बधाई देते हुए कहा कि राज्य के विद्यालयों की लाईब्रेरी में उत्तराखण्ड की संस्कृति पर आधारित पुस्तकें रखे जाने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि इससे अच्छा अवसर क्या हो सकता है कि लोकगाथाओं पर आधारित पुस्तक का विमोचन श्री हरीश रावत जैसे लोकनेता के करकमलों से हो रहा है। इस अवसर पर केबिनेट मंत्री प्रीतम सिंहए प्रसिद्ध लोक गायक प्रीतम भरत्वाणए वरिष्ठ पत्रकार राजीव नयन बहुगुणाए जयसिंह रावतए सहित अन्य महानुभाव उपस्थित थे।

Leave A Comment