Breaking News:

टाइगर श्रॉफ और अभिनेत्री दिशा पटानी की आगामी फ़िल्म “बागी 2” का ट्रेलर लांच -

Thursday, February 22, 2018

दक्षिण अफ्रीका ने भारत को दुसरे टी-20 मैच में 6 विकेट से हराया, सीरीज में 1-1 की बराबरी -

Thursday, February 22, 2018

कमल हासन ने शुरू की अपनी सियासी पारी -

Thursday, February 22, 2018

न्यायिक हिरासत में “आप” विधायक -

Thursday, February 22, 2018

EPFO ने ब्याज दर घटाकर की 8.55% -

Thursday, February 22, 2018

पांचमुखी हनुमानजी की करे पूजा… -

Wednesday, February 21, 2018

तीसरी शादी को लेकर इमरान खान थे दबाव में , जानिए खबर -

Wednesday, February 21, 2018

ऐतिहासिक झंडा मेला दून में छह मार्च से -

Wednesday, February 21, 2018

कथन इंडसइंड बैंक का …. -

Wednesday, February 21, 2018

पापड़ बेचने वाले के रोल से हुई शुरुआत … -

Tuesday, February 20, 2018

मोदी- माल्या को भारत लाने की कोशिशों में अब तक कितना खर्च, जानिए खबर -

Tuesday, February 20, 2018

दामाद ने सास पर पत्नी को देह व्यापार में धकेलने का लगाया आरोप -

Tuesday, February 20, 2018

नरसिंग देवता महायज्ञ का हुआ शुभारंभ -

Tuesday, February 20, 2018

11 हजार से अधिक बच्चों के साथ सीएम ने गाया वंदेमातरम -

Tuesday, February 20, 2018

बैंक की एक शाखा में तीन साल से ज्यादा नहीं रहेंगे अधिकारी -

Monday, February 19, 2018

शत्रुघ्‍न सिन्हा का प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना… -

Monday, February 19, 2018

पीएम मोदी को पाकिस्तान का 2.86 लाख का बिल -

Monday, February 19, 2018

गुजरात निकाय चुनाव: बीजेपी ने दी कांग्रेस को शिकस्त -

Monday, February 19, 2018

भाजपा मुख्यालय का पता बदला -

Sunday, February 18, 2018

त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में पिछली बार से 17% कम वोटिंग -

Sunday, February 18, 2018

‘‘गढ़वाली गाथाओं में लोक और देवता’’ नामक पुस्तक का विमोचन

pustak vimochan

देहरादून, एक ऐसा राज्य गीत तैयार किए जाने की आवश्यकता है जिसमें उत्तराखण्ड के प्रत्येक क्षेत्र का समावेश हो। मोबाईल युग की युवा पीढि को लोक संस्कृति से जोड़े रखने के लिए विशेष प्रयास करने होंगे। हमारी लोक संस्कृति की समृद्ध परम्परा है। इसे बचाए रखने के लिए प्रबुद्धजनों को आगे आना होगा। राज्य सरकार इसमें हर प्रकार का सहयोग देने को तैयार है। रविवार को बीजापुर में शोध पुस्तक ‘‘गढ़वाली गाथाओं में लोक और देवता’’ पुस्तक का विमोचन करते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि लोकसंस्कृति के संरक्षण के लिए सरकार हर सम्भव प्रयास कर रही है। जनजातिय संस्कृति के संरक्षण के लिए दो संग्रहालय बनाये जा रहे हैं। वाद्ययंत्रों के संरक्षण के लिए भी दो संग्रहालय बनाए जाएंगे। राज्य के वाद्ययंत्र का चयन करने के लिए समिति द्वारा विचार किया जा रहा है। सीएम ने पुस्तक के लेखक डाण्वीरेंद्र बत्र्वाल को बधाई देते हुए कहा कि पुस्तक में इतिहास को लोकगाथाओं व लोकदेवताओं के साथ लिया गया है। उत्तराखण्ड की संस्कृति बहुत समृद्ध है। जागर को महत्वपूर्ण बताते हुए उन्होंने कुमायंूए गढ़वाल सहित पूरे प्रदेश के जागर को संहिताबद्ध करने की आवश्यकता पर बल दिया। दून विश्वविद्यालय को जागर को संहिताबद्ध करने व पांडुलिपियों को संरक्षित करने के लिए कहा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड की भाषाओं को बोलियों के स्तर से आगे बढ़ाकर देश की आधिकारिक भाषा में शामिल करने के लिए यहां के लेखकों को प्रयास करने होंगे। लोकसंस्कृति पर पुस्तकों के लेखन के लिए सरकार मदद करेगी। उन्होंने लोकगीतकारों का आह्वान किया कि एक ऐसा राज्य गीत बनाया जाए जिसमें यहां के सभी क्षेत्रों की भाषाओं का समावेश हो। सरकार इस पर पुरस्कार राशि का भी प्राविधान करेगी। शिक्षा मंत्री मंत्रीप्रसाद नैथानी ने डाण्बत्र्वाल को बधाई देते हुए कहा कि राज्य के विद्यालयों की लाईब्रेरी में उत्तराखण्ड की संस्कृति पर आधारित पुस्तकें रखे जाने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि इससे अच्छा अवसर क्या हो सकता है कि लोकगाथाओं पर आधारित पुस्तक का विमोचन श्री हरीश रावत जैसे लोकनेता के करकमलों से हो रहा है। इस अवसर पर केबिनेट मंत्री प्रीतम सिंहए प्रसिद्ध लोक गायक प्रीतम भरत्वाणए वरिष्ठ पत्रकार राजीव नयन बहुगुणाए जयसिंह रावतए सहित अन्य महानुभाव उपस्थित थे।

Leave A Comment