Breaking News:

पाकिस्तान से क्रिकेट पर शर्तों के साथ प्रतिबंध नहीं होना चहिए -

Wednesday, September 19, 2018

2500 बच्चियों को शिक्षा के लिए 90 दिन में तय करेंगे 6 हजार किमी -

Wednesday, September 19, 2018

‘मेंटल है क्या’ की राइटर का खुलासा, जानिए खबर -

Wednesday, September 19, 2018

फर्जी प्रमाणपत्रों के जरिए फर्जी तरीके से नौकरी कर रहे हैं कई लोगः चौहान -

Wednesday, September 19, 2018

हर मुद्दे पर विधानसभा में चर्चा को तैयार सरकार : सीएम -

Wednesday, September 19, 2018

भारतीय सेना में चयनित लेफ्टिनेंट मालविका रावत को सीएम त्रिवेंद्र ने किया सम्मानित -

Wednesday, September 19, 2018

उत्तराखंड विधानसभा सत्र : अनेक मुद्दों पर हुई चर्चा -

Tuesday, September 18, 2018

26 सालों से मंदिर की देखभाल कर रहे हैं मुसलमान -

Tuesday, September 18, 2018

हर बाधाओं को पार कर हमारे खिलाड़ियों ने पायी सफल -

Tuesday, September 18, 2018

अनुष्का शर्मा ने खोला वरुण धवन का राज! -

Tuesday, September 18, 2018

देहरादून के निर्माता ओम प्रकाश भट्ट ने किया मुंबई में प्रोडक्शन हाउस का लांच -

Tuesday, September 18, 2018

प्राइमरी स्कूली बच्चों संग पीएम मोदी ने मनाया जन्मदिन -

Tuesday, September 18, 2018

चिन्यालीसौड़ में मुख्यमंत्री ने किया आर्च पुल का लोकार्पण -

Monday, September 17, 2018

कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक ‘खून का रिश्ता’ -

Monday, September 17, 2018

अटल जी का मार्गदर्शन उनकी कविताओं और विचारों के माध्यम से देश को हमेशा रहेगा मिलता: सीएम -

Monday, September 17, 2018

रवि शास्त्री को कोच पद से हटाने की मांग, जानिये खबर -

Monday, September 17, 2018

गौमाता को सम्मान दिलाने के लिए सभी कृष्ण भक्त आगे आएंः गोपाल मणि महाराज -

Monday, September 17, 2018

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को सीएम त्रिवेन्द्र ने जन्मदिन की दी हार्दिक बधाई -

Sunday, September 16, 2018

बॉक्सिंग: पोलैंड में जूनियर लड़कियों ने जीते गोल्ड -

Sunday, September 16, 2018

उत्तराखंड नेक्स्ट टाॅप माॅडल बने आयुषी व निखिल -

Sunday, September 16, 2018

गरीबी नहीं रोक सकी अंतरराष्ट्रीय स्तर की पहलवान बनाना, जानिए खबर ..

PEHCHAN

जब आप किसी चीज को यदि पूरी शिद्दत से चाहो तो पूरी दुनिया उसे तुम्हें मिलाने की कोशिश करने लगती है.यह फिल्ली भाषा लग सकती है लेकिन इसको साकार की है नीतू सरकार ने | हरियाणा के रोहतक जिले की रहने वाली नीतू को उसके पूरे इलाके के लोग बड़ी सम्मान की दृष्टि से देखते हैं, मगर हमेशा से ऐसा नहीं था. नीतू की शादी 13 साल की उम्र में कर दी गई थी और उनका पति उनसे 30 साल बड़ा और मानसिक रूप से विकलांग था. वे अपने ससुराल से तब भाग निकलीं जब उनके ससुर ने उनसे बलात्कार की कोशिश की. हालांकि, नीतू की शादी फिर से किसी और शख्स के साथ कर दी गई. यह शख्स नीतू के प्रति प्रेम का भाव रखता था और महज 14 साल की उम्र में नीतू जुड़वा बच्चों की मां बन गई थी. नीतू का पति एक बेरोजगार शख्स था और बच्चों के बड़े होने पर उनके पास इतने भी पैसे नहीं थे वे बच्चों की प्राथमिक जरूरतों को पूरा कर सकें. इसी दौरान एक दिन टेलीविजन पर कुश्ती देखते हुए उनके मन में खयाल आया कि क्यों न वह इसे सीखें. उनकी सास इस बात को लेकर अनमनी थीं. लोगों ने उनके पति से भी उन्हें रोकने को कहा लेकिन वह अपने फैसले पर टिकी रहीं.

Leave A Comment