Breaking News:

अधिकारियों व कार्मिकों को निरन्तर प्रशिक्षण की जरूरत , जानिए खबर -

Tuesday, December 11, 2018

एनआईटी मामला : हाईकोर्ट ने राज्य,एनआईटी और केंद्र सरकार को जवाब दाखिल करने को कहा -

Tuesday, December 11, 2018

जनसंपर्क और मीडिया लोक कल्याणकारी राज्य की प्रमुख विशेषता : राज्यपाल -

Monday, December 10, 2018

मानव अधिकार दिवस : इस वर्ष 2090 वाद में से 1434 वाद निस्तारित -

Monday, December 10, 2018

एकता कपूर व माही गिल गंगाआरती में हुए शामिल -

Monday, December 10, 2018

एकता कपूर और जितेंद्र हरिद्वार में करेंगे महाआरती , जानिए खबर -

Monday, December 10, 2018

पहल : एक साथ विवाह बंधन में बंधे 21 जोड़े -

Monday, December 10, 2018

सीएम ने की विभिन्न निर्माण कार्यों का शिलान्यास, जानिए खबर -

Sunday, December 9, 2018

पौराणिक मेले हमारी पहचान : सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, December 9, 2018

मैड और एनसीसी की टीम ने रिस्पना को किया साफ़ -

Sunday, December 9, 2018

राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन : हिमालय और गंगा राष्ट्र का गौरव -

Sunday, December 9, 2018

दून नगर निगम बढ़ाएगा हाउस टैक्स, जानिए खबर -

Sunday, December 9, 2018

आईएमए पीओपीः 347 कैडेट बने भारतीय सेना का हिस्सा -

Saturday, December 8, 2018

सीएम त्रिवेंद्र 40वें आॅल इण्डिया पब्लिक रिलेशन्स काॅन्फ्रेंस का किया शुभारम्भ -

Saturday, December 8, 2018

कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या की कोशिश, हालत गंभीर -

Saturday, December 8, 2018

सीएम त्रिवेंद्र किये कई घोषणाएं , जानिए खबर -

Saturday, December 8, 2018

‘केदारनाथ’ फिल्म के नाम से ऐतराज: सतपाल महाराज -

Saturday, December 8, 2018

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र करेंगे राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन का शुभारंभ -

Friday, December 7, 2018

सीएम एप ने दिलाई गरीब परिवारों को धुएं से मुक्ति, जानिए खबर -

Friday, December 7, 2018

गावस्कर : विराट नहीं भारत के ओपनर करेंगे सीरीज का फैसला -

Friday, December 7, 2018

गहरी निंद्रा में सोया है आपदा प्रबंधन विभाग, जानिए खबर

uk

रुद्रप्रयाग। लगता है कि जिले का आपदा प्रबंधन विभाग गहरी निंद्रा में सोया हुआ है। विभाग का वाहन चार माह से मुख्यालय के गुलाबराय के समीप राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे धूंल फांक रहा है और विभाग है कि वाहन को दुरूस्त करने के वजाय हाथ पीछे खींच रहा है, जबकि जनपद आपदा की दृष्टि से अति संवेदनशील है। आपदा तंत्र को मजबूत करने के उद्देश्य से वर्ष 2014 में तत्कालीन कृषि मंत्री एवं विधायक रुद्रप्रयाग डाॅ हरक सिंह रावत ने विधायक निधि से आपदा विभाग को साढ़े सात लाख की लागत से पिकप वाहन उपलब्ध कराया था। वाहन के उपलब्ध होने के बाद विभागीय कर्मचारी और अधिकारियों में भी काफी खुशी थी, क्योंकि विभाग पहले से ही संसाधनों को रोना रो रहा था। ऐसे में वाहन ने विभाग की जान में जान आने जैसा काम कर दिया। लेकिन आज दुर्भाग्य है कि चार माह गुजर चुका है, लेकिन विभाग वाहन को दुरूस्त नहीं कर पाया है। जहां पर वाहन खराब हुआ, वहीं पर वाहन को छोड़कर अधिकारी और कर्मचारी निकल लिये और वाहन का ट्रीटमेंट न होने से वाहन के चारों ओर धूल जम गई है। पहले ही जनपद आपदा और दुर्घटनाओं से जूझ रहा है, बावजूद इसके आपदा प्रबंधन तंत्र मजबूत होने के वजाय और कमजोर होता नजर आ रहा है। ऐसे में जनता में आपदा प्रबंधन के खिलाफ आक्रोश बना हुआ है। पूर्व सभासद बाइट अजय सेमवाल ने कहा कि रुद्रप्रयाग जनपद आपदाग्रस्त जिला है। आपदा और दुर्घटनाएं होने पर समय पर कभी भी आपदा की टीम समय से नहीं पहुंच पाती हैं। ऐसे में प्रभावितों को काफी दिक्कतें होती हैं। चार माह से आपदा प्रबंधन विभाग का वाहन खराब पड़ा है। मुख्यालय में सभी अधिकारी मौजूद हैं, बावजूद इसके कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। वहीं जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल का कहना है कि आपदा प्रबंधन विभाग के पास दो वाहन हैं, जिसमें एक वाहन के खराब होने पर सर्विसिंग के लिए दिया गया, मगर वाहन में तकनीकि खराबी के चलते और मैकेनिक के उपलब्ध न होने से देहरादून से मैकेनिक को बुलाया गया है। मैकेनिक के आने के बाद वाहन को दुरूस्त किया जायेगा। दुख की बात यह है कि पहले जिला आपदा से जूझ रहा है। यहां किस समय आपदा का कहर टूट जाय, यह कहना मुश्किल है। छोटी सी दुर्घटना होने या आपदा आने के बाद आपदा प्रबंधन तंत्र की पोल खुल जाती है। ऐसे में यह भी बड़ा सवाल बन गया है कि आखिर कब आपदा का वाहना ठीक हो पायेगा या फिर वाहन राजमार्ग के किनारे ही अपनी दुर्दशा पर आंसू बहाता रहेगा।

Leave A Comment