Breaking News:

एक साथ एक समय चुनाव करवाने से धन, ऊर्जा व समय की होगी बचतः सीएम -

Sunday, September 23, 2018

जिलाधिकरी मंगेश घिल्डियाल चन्द्रशिला से तुंगनाथ धाम तक की साफ सफाई -

Sunday, September 23, 2018

मुंबई के एक शख्स ने एक ही लड़की की दो बार बचाई जान , जानिए खबर -

Sunday, September 23, 2018

रणवीर-दीपिका को टालनी पड़ी अपनी शादी,जानिए खबर -

Sunday, September 23, 2018

रमेश सिप्पी, शर्मन जोशी ने छात्रों से की खास मुलाकात , जानिये खबर -

Sunday, September 23, 2018

राज्यपाल ने की ‘ज्ञान कुंभ’ की तैयारियों की समीक्षा की -

Saturday, September 22, 2018

यात्री वाहन खाई में पलटा, 13 की मौत -

Saturday, September 22, 2018

ई हेल्थ-सेवा डेशबोर्ड का सीएम ने शुभारम्भ किया -

Saturday, September 22, 2018

मिस उत्तराखंड प्रतियोगिता “फस्ट लुक” आयोजित -

Saturday, September 22, 2018

सीएम ने किया ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान के तहत श्रमदान -

Saturday, September 22, 2018

जल्द नजर आएंगे विराट कोहली बड़े पर्दे,जानिए खबर -

Saturday, September 22, 2018

30 साल से बिना वेतन के संभालते हैं गंगाराम जी ट्रैफिक, जानिए खबर -

Saturday, September 22, 2018

रमेश सिप्पी को भा गई दून की वादियां, उत्तराखंड फिल्म इंडस्ट्री का भविष्य -

Saturday, September 22, 2018

रोटी डे क्लब 23 सितंबर को मनाएगा रोटी दिवस महोत्सव -

Friday, September 21, 2018

शौचालयों के संबंध में कैग की रिपोर्ट पर निदेशक की स्पष्टीकरण , जानिए खबर -

Friday, September 21, 2018

उत्तराखंड : सदन में पटल पर रखी गई कैग की रिपोर्ट -

Friday, September 21, 2018

पर्यटन स्थलों को स्वच्छ रखना सभी की सामूहिक जिम्मेदारीः राज्यपाल -

Friday, September 21, 2018

डीएम मंगेश घिल्डियाल राइंका खेड़ाखाल में जाकर बच्चों को पढ़ाया -

Friday, September 21, 2018

Asia Cup 2018: भारत-पाकिस्तान के बीच फिर होगा मुकाबला, जानिए खबर -

Friday, September 21, 2018

इस साल दो पीढ़ियों ने एक साथ बनाया गणेशोत्सव और मुहर्रम -

Friday, September 21, 2018

गैरसैंण राजधानी के लिए मशाल जुलूस 17 को

uk

देहरादून। गैरसैंण राजधानी निर्माण अभियान से जुड़े राज्य आंदोलनकारी रविन्द्र जुगरान ने कहा कि प्रदेश की स्थाई राजधानी गैरसैंण बनाये जाने की मांग को लेकर 17 फरवरी को राजधानी में मशाल जुलूस निकाला जायेगा। यह मशाल जुलूस गांधी पार्क से आरंभ होकर कचहरी स्थित शहीद स्थल में शहीदों को नमन करने के बाद समाप्त होगा। उनका कहना है कि सरकार को इसी बजट सत्र में गैरसैंण स्थाई राजधानी की घोषणा करनी चाहिए, अन्यथा आंदोलन को तेज किया जायेगा। उत्तरांचल प्रेस क्लब में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि 21वीं सदी में जल, जमीन व जंगल को लगातार लूट की जा रही है और जनता को छलने का काम किया गया है। उनका कहना है कि अब तक की सरकारों ने प्रदेश की स्थाई राजधानी गैरसैंण को बनाये जाने के लिए किसी भी प्रकार का कोई कदम नहीं उठाया है। सत्रह साल में सत्रह लाख लोग रोजगार की तलाश में पहाड़ से पलायन कर चुके है और आज तक राज्य का समुचित विकास नहीं हो पाया है, लगातार सरकारों ने जन भावनाओं की उपेक्षा की है और पूर्व में कौशिक, बड़थ्वाल समिति व दीक्षित आयोग ने भी जन भावनाओं के अनुरूप गैरसैंण को ही राजधानी के लिए उपयुक्त पाया था और उनकी रिपोर्ट में भी गैरसैंण ही रहा लेकिन रिपोर्ट को सार्वजनिक नहीं किया गया है। उनका कहना है कि लगातार संसाधन जुटाने की बात की जाती रही है लेकिन काम नहीं किया गया है, केन्द्र सरकार को गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाये जाने के लिए समुचित धन उपलब्ध कराया जाना चाहिए, जिससे संसाधनों को जुटाया जा सके। उनका कहना है कि भराडीसैंण गैरसैंण में विधानसभा व सचिवालय निर्माण का कार्य पूरा हो चुका है और एक वर्ष में विधानसभा व सचिवालय को वहां पर शिफ्ट किया जाना चाहिए और इसी बजट सत्र में गैरसैंण को राजधानी बनाये जाने की घोषणा सरकार को करनी चाहिए। अन्यथा वर्ष 94 की तर्ज पर जनांदोलन चलाया जायेगा। इस अवसर पर रघुवीर सिंह बिष्ट ने कहा कि प्रदेश की स्थाई राजधानी गैरसैंण को बनाये जाने के लिए सरकार पर दवाब बनाया जायेगा और इसके लिए 17 फरवरी को मशाल जुलूस निकाला जायेगा। उनका कहना है कि उत्तराखंड के साथ दो और राज्य बने और उनकी राजधानी घोषित हो गई लेकिन उत्तराखंड एक ऐसा राज्य है जिसकी आज तक राजधानी ही घोषित नहीं हो पाई है। उनका कहना है कि मशाल जुलूस के लिए अखिल गढवाल सभा, आर्यन छात्र संगठन, कूर्मांचल सांस्कृतिक परिषद, पूर्व सैनिक संगठन, अपना परिवार, राज्य आंदोलनकारी मंच, उत्तराखंड एकता मंच, उत्तराखंड महिला मंच, दिल्ली उत्तरांचल बैंक इम्पलाईज, पर्वतीय विकास मंच, बदरी केदार विकास समिति, उत्तरांचल बैंक इम्पलाईज यूनियन, उत्तराखंड फुटबाल रैफरी एसोसिएशन, उत्तराखंड जन मंच, नैनीडांडा विकास समिति सहित चालीस संगठनों ने अपना समर्थन दिया है। उनका कहना है कि पहाड़ की राजधानी पहाड़ में बने इसके लिए संघर्ष को तेज किया जायेगा और इस मुहिम को राजधानी गैरसैंण बनाये जाने त कजारी रखा जायेगा। इस अवसर पर अन्य वक्ताओं ने भी अपने विचार व्यक्त किये। पत्रकार वार्ता में रविन्द्र जुगरान, पीसी थलियाल, रघुवीर सिंह बिष्ट, कैलाश जोशी, सचिन थपलियाल, जयदीप सकलानी, रामेन्द्र कोटनाला, जगमोहन मेंदीरत्ता, विजय कुमार बौडाई, प्रदीप कुकरेती आदि मौजूद रहे।

Leave A Comment