Breaking News:

डेंगू से बचाव के लिए जागरूकता जरूरी -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1199, देहरादून में 15 नए मामले मिले -

Friday, June 5, 2020

7 जून से “एसपीओ” द्वारा राष्ट्रीय ऑनलाइन योगा प्रतियोगिता का आयोजन -

Friday, June 5, 2020

उत्तराखंड : 10वीं च 12वीं की शेष परीक्षाएं 25 जून से पहले होंगी -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1153 आज 68 नए मरीज मिले -

Thursday, June 4, 2020

पांच जून को अधिकांश जगह बारिश की संभावना -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1145 -

Thursday, June 4, 2020

जागरूकता और सख्ती पर विशेष ध्यान हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, June 4, 2020

दुःखद : बॉलीवुड कास्टिंग निदेशक का निधन -

Thursday, June 4, 2020

वक्त का फेर : चैम्पियन तीरंदाज सड़क पर बेच रही सब्जी -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या 1085 हुई , 42 नए मरीज मिले -

Wednesday, June 3, 2020

अभिनेत्री ने जहर खाकर की खुदकुशी, जानिए खबर -

Wednesday, June 3, 2020

मुझे बदनाम करने की साजिश : फुटबॉल कोच विरेन्द्र सिंह रावत -

Wednesday, June 3, 2020

मोदी 2.0 : पहले साल लिए गए कई ऐतिहासिक निर्णय -

Wednesday, June 3, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 1066 हुई -

Wednesday, June 3, 2020

सराहनीय पहल : एक ट्वीट से अपनों के बीच घर पहुंचा मानसिक दिव्यांग मनोज -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1043 -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में करें अब आनलाईन आवेदन -

Tuesday, June 2, 2020

10 वर्षीय आन्या ने अपने गुल्लक के पैसे देकर मजदूर का किया मदद -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 999 हुई, 243 मरीज हुए ठीक -

Tuesday, June 2, 2020

जीआरडी स्कूल भाऊवाला की सीबीएसई ने की मान्यता रद

cbse6

देहरादून। नाबालिग छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म और गर्भपात कराने के मामले में भाऊवाला स्थित जीआरडी वर्ल्ड स्कूल पर गाज गिरी है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने स्कूल की मान्यता रद कर दी है। बोर्ड ने उत्तराखंड शासन के स्तर से स्कूल की मान्यता रद करने को लेकर भेजे गए पत्र के बाद यह कदम उठाया है। बोर्ड के संयुक्त सचिव (संबद्धता) की तरफ से जारी पत्र के अनुसार, बोर्ड की ओर से स्कूल को एक अप्रैल 2015 से 31 मार्च 2018 तक सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी के लिए प्रोविजनल एफिलिएशन प्रदान किया गया था। स्कूल प्रबंधन की ओर से इसके एक्सटेंशन के लिए भी बोर्ड को प्रार्थना पत्र दिया गया था। लेकिन, 14 अगस्त को स्कूल में नाबालिग छात्रा से हुए सामूहिक दुष्कर्म मामले को गंभीरता से लेते हुए राज्य सरकार की संस्तुति और शिक्षा विभाग के निरीक्षण में पाई गई खामियों के मद्देनजर स्कूल की मान्यता रद कर दी गई है। सीबीएसई के क्षेत्रीय अधिकारी रणबीर सिंह ने बताया कि बोर्ड द्वारा जारी किए गए आदेशों में स्कूल की मान्यता रद करते हुए एक्सटेंशन के आवेदन को भी अस्वीकार कर दिया है। उन्होंने बताया कि बोर्ड ने स्कूल प्रबंधन को साफ आदेश दिए हैं कि वह मान्यता रद होने के बाद कहीं भी बोर्ड एफिलिएशन नंबर का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे। इतना ही नहीं 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं के नए दाखिलों पर भी रोक लगा दी गई है। क्षेत्रीय अधिकारी के अनुसार, बोर्ड स्कूल में पढ़ रहे मौजूदा छात्रों के भविष्य को लेकर भी संवेदनशील है। इसे देखते हुए अभी तक जितने भी छात्र बोर्ड में पंजीकृत हैं, उनका नुकसान नहीं होने दिया जाएगा। दसवीं व बारहवीं के पंजीकृत छात्र, वर्ष 2019 की बोर्ड परीक्षा दे पाएंगे।

Leave A Comment