Breaking News:

स्वच्छता अभियान चलाते हुए सेल्फी प्वाइंट में घाट को बदला, जानिए खबर -

Sunday, April 21, 2019

मछली का अवैध शिकार करने वाला गिरोह फिर सक्रिय -

Sunday, April 21, 2019

देहरादून चैप्टर द्वारा 33वीं राष्ट्रीय जनसंपर्क कार्यशाला का आयोजन -

Sunday, April 21, 2019

सोशल मीडिया के योद्धाओं की फौज तैयार करेंगे बाबा रामदेव -

Sunday, April 21, 2019

एनडीए व एनए परीक्षा आयोजित, आसान रहा पेपर -

Sunday, April 21, 2019

छोलिया नृत्य विशेष आकर्षण का रहा केंद्र -

Saturday, April 20, 2019

बेटियों के जीवन की सुरक्षा को लेकर हुआ मंथन , जानिए खबर -

Saturday, April 20, 2019

35वीं बीसीआई मूट कोर्ट प्रतियोगिता का आयोजन -

Saturday, April 20, 2019

विंग कमांडर अभिनंदन के लिए ‘वीर चक्र’ की सिफारिश , जानिए ख़बर -

Saturday, April 20, 2019

फिल्म ‘कलंक’ ने तीसरे दिन भी की करोड़ो की कमाई -

Saturday, April 20, 2019

आईपीएल : पंजाब टीम ने कोटला की पिच को धीमा करार दिया -

Friday, April 19, 2019

दून संस्कृति ने धूमधाम से मनाई बैसाखी -

Friday, April 19, 2019

सचिवालय कूच करेंगे 108 सेवा के कर्मचारी , जानिए ख़बर -

Friday, April 19, 2019

हनुमान जयंती पर सुंदरकांड का आयोजन, 51 किलो का लड्डू चढ़ाया -

Friday, April 19, 2019

दिव्यांग बच्चे किसी से कम नहीं होते : राज्यपाल -

Friday, April 19, 2019

फिल्म ‘मेंटल है क्या’ के लिए खड़ी हुई नई मुश्किल , जानिए ख़बर -

Friday, April 19, 2019

विभिन्न सामाजिक कार्यों के साथ अनमोल इंडस्ट्रीज ने पूरे किये अपने 25 वर्ष -

Thursday, April 18, 2019

पत्रकार बिजेन्द्र कुमार यादव पर हुए प्राणघातक हमले के मामले की होगी जांच, डीजीपी ने दिए आदेश -

Thursday, April 18, 2019

IPL 2019: ‘ब्रोमांस’ करते नजर आए धवन और पंड्या -

Thursday, April 18, 2019

सेना अधिकारी है दिशा की बहन शेयर की वर्दी वाली तस्वीर -

Thursday, April 18, 2019

जीएसटी रिटर्न के आधार पर ऋण देने की शुरुआत, जानिए ख़बर

gst

देहरादून। आईसीआईसीआई बैंक ने एक नई कार्यकारी पूंजी की सुविधा शुरू करने का एलान किया है। इस सुविधा के तहत एमएसएमई (माइक्रो, लघु और मध्यम उद्यम) अपने जीएसटी रिटर्न में दर्ज कारोबार के आधार पर ओवरड्राफ्ट (ओडी) प्राप्त कर सकते हैं। ‘जीएसटी बिजनेस लोन‘ नामक यह सुविधा किसी भी एमएसएमई के लिए उपलब्ध है, और ऐसे उद्यमी जो आईसीआईसीआई बैंक के ग्राहक नहीं हैं, वे भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। योजना के तहत 1 करोड़ रुपये तक का ऋण हासिल किया जा सकता है। यह सुविधा त्वरित ओवरड्राफ्ट का लाभ उठाने की बेहतर सुविधा प्रदान करती है, क्योंकि इसके अंतर्गत पिछले वर्षों की बैलेंस शीट सहित विभिन्न वित्तीय दस्तावेजों की आवश्यकता नहीं होती। इसमें एमएसएमई के लिए कामकाजी पूंजी सीमा की पात्रता का आकलन करने के लिए उनके जीएसटी रिटर्न का ही उपयोग किया जाता है और इस तरह प्रक्रिया को सरल बनाते हुए दो कार्य दिवसों के भीतर ओडी की मंजूरी प्रदान कर दी जाती है। अभी ऋण मंजूर करने की पारंपरिक प्रक्रिया के तहत कई दस्तावेजों की आवश्यकता होती है और फिर इन दस्तावेजों की जांच में आम तौर पर कई दिन लग जाते हैं। ‘जीएसटी बिजनेस लोन‘ सुविधा की लाॅन्चिंग के अवसर पर आईसीआईसीआई बैंक के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर अनूप बागची ने कहा, ‘‘वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) एक परिवर्तनकारी संरचनात्मक सुधार साबित हुआ है जिसने राष्ट्रीय बाजार के निर्माण, व्यापार करने में आसानी, उत्पादकता और दक्षता में सुधार के साथ अर्थव्यवस्था को और मजबूत किया है। चूंकि जीएसटी व्यापक प्रवाह को ध्यान में रखता है, इसलिए हम मानते हैं कि जीएसटी रिटर्न एमएसएमई के लिए ऋण लेने की प्रक्रिया को और अपने कारोबार के लिए कार्यशील पूंजी जुटाने के प्रयासों को और आसान बनाता है। इसी सिलसिले में हम जीएसटी समर्थित ओवरड्राफ्ट सुविधा को लॉन्च करते हुए खुशी का अनुभव कर रहे हैं। इस सुविधा का लाभ उठाते हुए एमएसएमई अपनी बैलेंस शीट के अतिरिक्त मूल्यांकन के बिना सिर्फ अपने जीएसटी रिटर्न के आधार पर 1 करोड़ रुपये तक का ओवरड्राफ्ट हासिल कर सकते हैं।

Leave A Comment