Breaking News:

आखिर क्यों मैदान में खिलाड़ी, अंपायर घुटने के बल बैठे, जानिए खबर -

Saturday, July 11, 2020

अमेरिका विश्व स्वास्थ्य संगठन से हुआ अलग, जानिए क्यों -

Saturday, July 11, 2020

प्रत्येक व्यक्ति को अपनी सुविधा और कौशल के अनुसार व्यवसाय चयन करने का रोजगार प्रदान करने का अवसर : मदन कौशिक -

Friday, July 10, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3373, आज कुल 68 नए मरीज मिले -

Friday, July 10, 2020

विकास दुबे पुलिस मुठभेड़ में ढेर, जानिए खबर -

Friday, July 10, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा द्वारा कोमल वोहरा को महानगर महिला मोर्चा का अध्यक्ष चुना गया -

Friday, July 10, 2020

देहरादून : सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने व मास्क ना पहनने पर 21 लोगों का चालान -

Friday, July 10, 2020

जरा हटके : 300 वर्ष पुरानी वोगनबेलिया की बेल पेड़ सहित टूटी -

Friday, July 10, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा के प्रतिनिधिमंडल ने भेंट की फेस मास्क व फेस शील्ड -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखंड : विश्वविद्यालय स्तर पर अन्तिम वर्ष एवं अन्तिम सेमेस्टर की परीक्षायें 24 अगस्त से 25 सितम्बर -

Thursday, July 9, 2020

गफूर बस्ती के लोगों के उत्पीड़न पर अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग सख्त, जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3305, आज कुल 47 नए मरीज मिले -

Thursday, July 9, 2020

प्रधानमंत्री द्वारा ‘वोकल फाॅर लोकल एंड मेक इट ग्लोबल’ के लिए किए गए आह्वान को सभी देशवासियों का मिला समर्थन : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, July 9, 2020

‘देसी गर्ल’ फिर नज़र आएगी हॉलीवुड फ़िल्म में , जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

कानपुर का मुख्य आरोपी विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार, जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

दुःखद : भारी बारिश के चलते ढहा मकान, मां व दो बेटियों की मौत -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखंड : अपराधियों की एंट्री पर लगेगी रोक -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखंड राज्य कैबिनेट बैठक : लिए गए कई अहम फैसले, जानिए खबर -

Wednesday, July 8, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3258, आज कुल 28 नए मरीज मिले -

Wednesday, July 8, 2020

दुःखद : फिल्मी कलाकार अशोक मल्ल का हुआ निधन -

Wednesday, July 8, 2020

झुलसती गर्मी से बचने को घरों में घुसने लगे जहरीले सांप

देहरादून। उत्तराखंड के जंगलों में आग और गर्मी ने वैसे तो लोगों का जीना मुहाल किया हुआ है, लेकिन इस तपिस से आदमी ही नहीं बल्कि जंगली जानवरों का भी जीना दुश्वार है। आलम यह है कि राजधानी देहरादून के 108 कंट्रोल रूम में रोजाना दर्जनों फोन कॉल सिर्फ जहरीले सांपों के घरों में घुसने की आ रही है। वह इसलिए है कि गर्मी के सीजन में जंगली जानवर आवासीय क्षेत्रों की ओर रुख कर रहे हैं। जंगलों में आग लगने के कारण इन दिनों जंगल से सांपों ने शहर की तरफ रुख कर लिया है। जिसके चलते राजधानी में जहरीले सांप पकड़े जा रहे हैं। .हैरानी की बात यह है कि अक्सर जहां महीने में जहरीले सांप के घरों में घुसने के फोन कॉल्स एक-दो आया करते थे अब 1 दिन में दर्जनों कॉल 108 कंट्रोल रूम में आ रही हैं। गर्मी के सीजन के चलते राजधानी देहरादून के अलग-अलग क्षेत्रों में विषैले सांप और जानवर आबादी क्षेत्र की ओर रुख कर रहे हैं, जिसके चलते लोगों में डर का माहौल बना हुआ है। पिछले 2 महीने में वन विभाग 300 से अधिक रेस्क्यू कर चुका है। गर्मियां शुरू होते ही सांप ठंड की तलाश में बिलों से बाहर निकलने शुरू हो जाते हैं। 108 के कंट्रोल रूम का जिम्मा संभाल रहे सुपरवाइजर कमल का कहना है कि गर्मी के सीजन में आजकल अधिक सूचनाएं जंगली जानवरों और सांपों की आती हैं। जिसके चलते कंट्रोल रूम में बैठे वन विभाग के कर्मचारियों को बताया जाता है। उसके बाद वन विभाग की रेस्क्यू टीम मौके के लिए रवाना होती है। देहरादून के चंद्रमणि, राजभवन, जाखन ओर कैनाल रोड से पिछले 1 महीने में वन विभाग को दर्जनों कॉल आ गए हैं। अकेले राजभवन से मार्च से लेकर अभी तक 16 कॉल वन विभाग को आ चुके हैं। इनमें अधिकतर धामन, कोबरा जैसे सांप हैं, जिनको देखते ही लोगों की चीख पुकार शुरू हो जाती है। उत्तराखंड में करीब 30 से अधिक प्रजाति के सांप पाए जाते हैं। इनमें भारत में पाए जाने वाले चार सबसे अधिक विषैले प्रजाति के सांपों में से तीन प्रजाति के सांप भी शामिल हैं। मार्च से लेकर अभी तक वन विभाग अकेले देहरादून में घरों से 300 से अधिक सांप रेस्क्यू कर चुका है। इस दौरान देहरादून रेलवे कॉलोनी से कॉमन सेंड बोवा जैसा दुर्लभ सांप भी रेस्क्यू किया गया है।

Leave A Comment