Breaking News:

अपने सपने : पर्यावरण बचाने हेतु बच्चो ने किया लोगो को जागरूक -

Thursday, July 19, 2018

बहाली की मांग को लेकर धरना-प्रदर्शन का 79वा दिन, जानिये खबर -

Thursday, July 19, 2018

ऋषि कपूर की फिल्म “मुल्क” को U/A सर्टिफिकेट, जानिये खबर -

Thursday, July 19, 2018

जिंदा रहने के लिए गुफा की चट्टानों से टपकते पानी का किया इस्तेमाल , जानिये खबर -

Thursday, July 19, 2018

सुप्रीम कोर्ट ने खोले महिलाओ के लिए सबरीमाला मंदिर का द्वार ,जानिये खबर -

Thursday, July 19, 2018

उत्तराखंड : जर्मन डेवलपमेंट बैंक स्वच्छ पेयजल और गंगा सफाई के लिए देगा 960 करोड़ -

Wednesday, July 18, 2018

गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिले मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत -

Wednesday, July 18, 2018

डॉ. हाथी का रोल कर सकते हैं सतीश कौशिक, जानिये खबर -

Wednesday, July 18, 2018

100 का नया नोट होगा ऐसा , नोटों की छपाई शुरू -

Wednesday, July 18, 2018

एयर होस्टेस अनीशिया बत्रा की मौत मामले में आरोपी पति गिरफ्तार -

Wednesday, July 18, 2018

“स्पेशल बच्चों” का जीवन संवार रही है मणि , जानिये खबर -

Wednesday, July 18, 2018

खुलेगा सीबीएसई का ट्रेनिंग सेंटर देहरादून में , जानिये खबर -

Tuesday, July 17, 2018

अंतरिक्ष उपयोग केन्द्र के निदेशक के खिलाफ प्रदर्शन हुआ तेज , जानिए खबर -

Tuesday, July 17, 2018

विलुप्त हो रही संस्कृति के संरक्षण हेतु मेलों का हो आयोजन : मुख्यमंत्री -

Tuesday, July 17, 2018

18 युवकों से रचाई शादी,लुटेरी दुल्हन हुई गिरफ्तार -

Tuesday, July 17, 2018

मोदी व अमित शाह को खून से लिखा पत्र -

Tuesday, July 17, 2018

हरेला पर कोसी नदी के पुनर्जीवन अभियान का सीएम त्रिवेंद्र ने किया शुभारम्भ -

Monday, July 16, 2018

क्रोएशिया को हरा फ्रांस 20 साल बाद बना चैंपियन -

Monday, July 16, 2018

मोहम्मद शहजाद बसपा से निष्कासित, जानिये खबर -

Monday, July 16, 2018

लकवाग्रस्त बीरा को हेल्पेज ने दिया सहारा, जानिये खबर -

Monday, July 16, 2018

दबंग छात्र नेता बनाम कालेज चुनाव

collage-election

अरुण कुमार यादव (संपादक)

शिक्षा का मन्दिर स्कूल और कॉलेजो का आज के दौर में यह वाक्यांश सटीक बैठता है या नही आप समझ सकते है | उत्तराखंड में इनदिनों कॉलेजो में चुनाव का दौर शुरू हो गए है सभी छात्र संगठन अपनी जीत को सुनिश्चित करने के लिए कॉलेजो में एड़ी चोटी एक कर रहे है | लेकिन आज के दौर के छात्र नेता जिस तरह से चुनाव लड़ते है वह कॉलेजो के छात्रो के हित में शून्य है | आज के दौर में कालेजो के मुद्दे और छात्र हित पर छात्र नेताओ के रास्ते बदलता हुआ नज़र आ रहा है | कालेजो में शिक्षा रूपी माहौल जिस तरह से विलुप्त हो रहे है इसका जिम्मेदार छात्र नेताओ की ओर आ कर रुक जाती है | कॉलेजो में राजनीति जितनी हावी होगी उतना कॉलेजो का शिक्षा रूपी वातावरण समाप्त होती नज़र आयेगी | अच्छे छात्र नेताओ की संख्या में कमी का कारण दबंग छात्र नेताओ की अधिकता ही है | कॉलेजो में मारपीट गुंडागर्दी का स्तर पहले समय के मुकाबले अधिक बढ़ी है तो इससे अंदाजा लगाया जा सकता है की अच्छे छात्र नेताओ में कमी क्यों है | जब तक कॉलेजो में गुंडे दबंग प्रवित्ति के छात्र नेता पनफते रहेंगे तब तक अच्छे छात्र नेताओ का आकाल बना रहेगा और साथ ही साथ छात्र मुद्दे दफन होते रहेंगे |

Leave A Comment