Breaking News:

प्रत्येक व्यक्ति को अपनी सुविधा और कौशल के अनुसार व्यवसाय चयन करने का रोजगार प्रदान करने का अवसर : मदन कौशिक -

Friday, July 10, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3373, आज कुल 68 नए मरीज मिले -

Friday, July 10, 2020

विकास दुबे पुलिस मुठभेड़ में ढेर, जानिए खबर -

Friday, July 10, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा द्वारा कोमल वोहरा को महानगर महिला मोर्चा का अध्यक्ष चुना गया -

Friday, July 10, 2020

देहरादून : सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने व मास्क ना पहनने पर 21 लोगों का चालान -

Friday, July 10, 2020

जरा हटके : 300 वर्ष पुरानी वोगनबेलिया की बेल पेड़ सहित टूटी -

Friday, July 10, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा के प्रतिनिधिमंडल ने भेंट की फेस मास्क व फेस शील्ड -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखंड : विश्वविद्यालय स्तर पर अन्तिम वर्ष एवं अन्तिम सेमेस्टर की परीक्षायें 24 अगस्त से 25 सितम्बर -

Thursday, July 9, 2020

गफूर बस्ती के लोगों के उत्पीड़न पर अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग सख्त, जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3305, आज कुल 47 नए मरीज मिले -

Thursday, July 9, 2020

प्रधानमंत्री द्वारा ‘वोकल फाॅर लोकल एंड मेक इट ग्लोबल’ के लिए किए गए आह्वान को सभी देशवासियों का मिला समर्थन : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, July 9, 2020

‘देसी गर्ल’ फिर नज़र आएगी हॉलीवुड फ़िल्म में , जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

कानपुर का मुख्य आरोपी विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार, जानिए खबर -

Thursday, July 9, 2020

दुःखद : भारी बारिश के चलते ढहा मकान, मां व दो बेटियों की मौत -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखंड : अपराधियों की एंट्री पर लगेगी रोक -

Thursday, July 9, 2020

उत्तराखंड राज्य कैबिनेट बैठक : लिए गए कई अहम फैसले, जानिए खबर -

Wednesday, July 8, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3258, आज कुल 28 नए मरीज मिले -

Wednesday, July 8, 2020

दुःखद : फिल्मी कलाकार अशोक मल्ल का हुआ निधन -

Wednesday, July 8, 2020

भोजपुरी एक्ट्रेस ने कहा कर लूंगी आत्महत्या , पुलिस आयी हरकत में, जानिए खबर -

Wednesday, July 8, 2020

अक्षय कुमार फिल्म की शूटिंग अगस्त से करेंगे शुरू, जानिए खबर -

Wednesday, July 8, 2020

दो हजार चाय बागान श्रमिक बेरोजगारी की कगार पर

भले ही राज्य सरकार रोजगार मुहैया कराने और पलायन रोकने के लाख दावे करे, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है। सरकार की अनदेखी के चलते दो हजार चाय बागान श्रमिक बेरोजगारी की कगार पर है। श्रमिकों ने कई बार इस संबंध में  शासन-प्रशासन के नुमाइंदों को ज्ञापन दिए, लेकिन कोई सुनने को तैयार नहीं है। इससे गुस्साए श्रमिकों ने अब उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। उत्तराखंड चाय बागान श्रमिक संघ की कौसानी चाय फैक्ट्री में बैठक हुई। इस दौरान केएस खत्री की अध्यक्षता में आयोजित बैठक को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि श्रमिकों की मांगों की लंबे समय से अनदेखी की जा रही है। जिलाधिकारी से लेकर स्थानीय विधायक को कई बार ज्ञापन दिए जा चुके हैं। बावजूद स्थिति जस की तस बनी हुई है। श्रमिकों ने चाय बागान की दुर्दशा सुधारने, चाय बागान वैज्ञानिक और निदेशक की तैनाती करने, मनमाने तरीके से श्रमिकों की वेतन कटौती, ईपीएफ काटने, चाय बागानों की उत्पादकता कम होने के कारण जमीन मालिकों को लीज का 2014 से भुगतान ना होने आदि समस्याओं के निराकरण की मांग की है। समाजसेवी लीलाधर पांडे ने कहा कि श्रमिकों के हितों का हनन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिस श्रमिक की मेहनत से चाय बोर्ड चल रहा है वो ही अपने वजूद की लड़ाई लड़ रहा है। उन्होंने उच्च स्तर के अधिकारियों पर श्रमिकों का शोषण करने का आरोप लगाया।  उनका कहना है कि अगर जल्द ही उनकी समस्याओं का समाधान नहीं किया गया तो कोर्ट की शरण ली जाएगी। श्रमिक चंदन सिंह भंडारी ने बताया कि सूचना के अधिकार के तहत जानकारी मांगी गई थी, लेकिन पूर्ण जानकारी नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि श्रमिकों के अधिकारों की अनदेखी अब बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर मांगे नहीं मानी गर्इ तो धरना प्रदर्शन कर उग्र आंदोलन किया जाएगा।

Leave A Comment