Breaking News:

केदार यात्रा में घोड़े-खच्चर संचालकों ने मचाई लूट -

Tuesday, May 21, 2019

धूमधाम से मना एसएन मैमोरियल स्कूल का वार्षिकोत्सव ’नवरस’ -

Monday, May 20, 2019

अब ड्राइविंग लाइसेंस और आरसी नहीं रखने होंगे साथ, जानिए ख़बर -

Monday, May 20, 2019

उत्तराखंड बोर्ड का 10वीं व 12वीं का रिजल्ट 30 मई को -

Monday, May 20, 2019

अटल आयुष्मान योजना के मरीजों से अवैध वसूली पर होगी कार्यवाही -

Monday, May 20, 2019

पाकिस्तानी क्रिकेटर की 2 वर्षीय बेटी का कैंसर से निधन -

Monday, May 20, 2019

‘लाल कप्तान ‘ का फर्स्ट लुक रिलीज,जानिए ख़बर -

Monday, May 20, 2019

जब तक शरीर साथ देगा तब तक लिखता रहूंगाः रस्किल बांड -

Sunday, May 19, 2019

स्थाई राजधानी बनाये जाने की मांग को लेकर धरना जारी रखा, जानिए खबर -

Sunday, May 19, 2019

बाबा केदार व बदरीविशाल के दर्शन किये पीएम मोदी , दिल्ली रवाना -

Sunday, May 19, 2019

पारंपरिक संगीत के साथ हुआ स्वागत , वोट डालने पहुंचे पहले वोटर का -

Sunday, May 19, 2019

एक ही फ्रेम में नजर आयी भारतीय हसीनाएं, जानिए ख़बर -

Sunday, May 19, 2019

लॉन्च हुआ वर्ल्ड कप का ऑफिशल सॉन्ग ‘स्टैंड बाई’ -

Saturday, May 18, 2019

राखी सावंत के लिए आशा भोसले ने गाया आइटम नंबर -

Saturday, May 18, 2019

‘भिक्षा नहीं शिक्षा दें’ ……… -

Friday, May 17, 2019

मिनी साईबर थाने में तब्दील होगी प्रदेश के सभी थाने , जानिए खबर -

Friday, May 17, 2019

सुरक्षित प्रसव से ही घटेगा मातृ-शिशु मृत्युदरः डा. सुजाता संजय -

Friday, May 17, 2019

केदारनाथ यात्रा के लिए हेली सेवा का किराया निर्धारित -

Friday, May 17, 2019

हम वर्ल्ड कप जीत के असली दावेदार है : चहल -

Friday, May 17, 2019

‘छपाक’ में दीपिका के साथ काम करने वाले थे राजकुमार राव -

Friday, May 17, 2019

पर्यावरण संरक्षण को सामाजिक आन्दोलन बनाना जरूरी : सीएम

देहरादून | मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मंगलवार को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर ओएनजीसी के एएनएम आॅडिटोरियम में उत्तराखण्ड वन विभाग तथा उत्तराखण्ड पर्यावरण संरक्षण एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने पर्यावरण संरक्षण एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की वर्ष 2017-18 की वार्षिक रिपोर्ट एवं देहरादून जू के ब्रोसर का अनावरण किया। पर्यावरण दिवस की थीम ‘‘बीट प्लाॅस्टिक पोल्यूशन’ प्लास्टिक कचरे का निस्तारण कैसे करें विषय पर आॅनलाइन डिजिटल निबन्ध प्रतियोगिता के विजेताओं को मुख्यमंत्री ने सम्मानित भी किया। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि पर्यावरण के संरक्षण के लिए पाॅलीथीन के इस्तेमाल पर रोक लगना जरूरी है। उन्होंने कहा कि विश्व के अनेक देशों और भारत के कई राज्यों में पाॅलीथीन पर प्रभावी नियंत्रण के अच्छे प्रयास किये हैं। उत्तराखण्ड में नैनीताल, गोपेश्वर, श्रीनगर, पौड़ी में भी जन-जागरूकता से पाॅलीथीन पर प्रभावी अंकुश लगा है। उन्होंने कहा कि पाॅलीथीन के प्रयोग का पर्यावरण व वन्य जीवों पर दुष्प्रभाव पड़ता है। पाॅलीथीन प्रतिबन्ध के लिए व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान चलाना होगा। स्कूलों में बच्चों को पाॅलीथीन के दुष्प्रभावों पर जागरूक करना आवश्यक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण को सामाजिक आन्दोलन बनाना जरूरी है। पाॅलीथीन मुक्त उत्तराखण्ड एवं पर्यावरण संरक्षण के अन्य कार्यों के लिए राज्य, जिला एवं ब्लाॅक स्तर पर ईको टाॅस्क फोर्स बनाई जायेगी। इसमें प्रशासन के अधिकारी, वन विभाग के अधिकारी, पर्यावरण से जुड़े एवं गैर सरकारी संगठनों के लोगों को शामिल किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी अभियान में यदि राजनैतिक इच्छाशक्ति, प्रशासन की ताकत एवं सामाजिक शक्ति जुड़ती है, तो वह अभियान अवश्य सफल होता है। जल संरक्षण की दिशा में हमें विशेष कदम उठाने होंगे। जल के संरक्षण एवं संवर्द्धन के लिए वर्षा जल का संरक्षण करना जरूरी है। इसके लिए सरकार द्वारा प्रभावी कदम उठाये जा रहे हैं। सरकारी आवासों से रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की व्यवस्था की जा रही है। मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र ने कहा  गंगा बेसिन भारत की 45 प्रतिशत लोगों को खाद्यान उपलब्ध कराती है। गंगा की निर्मलता और अविरलता को बनाये रखने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नमामि गंगे अभियान में हम सबको सहयोग देना होगा। इस अवसर पर प्रमुख वन संरक्षक  जयराज, पर्यावरण संरक्षण एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सदस्य सचिव  एस.पी. सुबुद्धि, गति फाउण्डेशन के संस्थापक अनूप नौटियाल, सचिव अरविन्द सिंह ह्यांकी, पर्यावरण विशेषज्ञ  विपिन कुमार,  सनत कुमार, देहरादून जू के निदेशक  पी.के पात्रो एवं अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

Leave A Comment