Breaking News:

पूजा बेदी द्वारा फिक्की फ्लो के लिए ‘लाइफ ट्रांसफॉर्मेशन’ कार्यशाला -

Friday, July 20, 2018

पर्यटन व वन विभाग के मध्य उचित समन्वय आवश्यक : मुख्यमंत्री -

Friday, July 20, 2018

धरती के इतिहास में वैज्ञानिकों ने खोजा ‘मेघालय युग’ जानिये खबर -

Friday, July 20, 2018

सोनाली बेंद्रे ने बेटे रणवीर के लिए लिखी दिल छू जाने वाली बातें , जानिये खबर -

Friday, July 20, 2018

विकास कार्यों में धीमापन बरदाश्त नहींः मुख्यमंत्री -

Friday, July 20, 2018

सड़क पर पानी में खड़े होकर संभाला ट्रैफिक,जानिये खबर -

Friday, July 20, 2018

नैनीताल विधानसभा क्षेत्रों के विकास कार्यों की सीएम त्रिवेन्द्र ने की समीक्षा -

Thursday, July 19, 2018

एम्स ऋषिकेश पहुंचकर सीएम ने बस दुर्घटना के घायलों का जाना हाल-चाल -

Thursday, July 19, 2018

अपने सपने : पर्यावरण बचाने हेतु बच्चो ने किया लोगो को जागरूक -

Thursday, July 19, 2018

बहाली की मांग को लेकर धरना-प्रदर्शन का 79वा दिन, जानिये खबर -

Thursday, July 19, 2018

ऋषि कपूर की फिल्म “मुल्क” को U/A सर्टिफिकेट, जानिये खबर -

Thursday, July 19, 2018

जिंदा रहने के लिए गुफा की चट्टानों से टपकते पानी का किया इस्तेमाल , जानिये खबर -

Thursday, July 19, 2018

सुप्रीम कोर्ट ने खोले महिलाओ के लिए सबरीमाला मंदिर का द्वार ,जानिये खबर -

Thursday, July 19, 2018

उत्तराखंड : जर्मन डेवलपमेंट बैंक स्वच्छ पेयजल और गंगा सफाई के लिए देगा 960 करोड़ -

Wednesday, July 18, 2018

गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिले मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत -

Wednesday, July 18, 2018

डॉ. हाथी का रोल कर सकते हैं सतीश कौशिक, जानिये खबर -

Wednesday, July 18, 2018

100 का नया नोट होगा ऐसा , नोटों की छपाई शुरू -

Wednesday, July 18, 2018

एयर होस्टेस अनीशिया बत्रा की मौत मामले में आरोपी पति गिरफ्तार -

Wednesday, July 18, 2018

“स्पेशल बच्चों” का जीवन संवार रही है मणि , जानिये खबर -

Wednesday, July 18, 2018

खुलेगा सीबीएसई का ट्रेनिंग सेंटर देहरादून में , जानिये खबर -

Tuesday, July 17, 2018

प्रदूषण फैलाने वाले 764 उद्योगों को सूचीबद्ध किया गया

cpcb

केन्‍द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने काफी ज्‍यादा प्रदूषण फैलाने वाले ऐसे 764 उद्योगों को सूचीबद्ध किया है, जो प्रत्‍यक्ष अथवा अप्रत्‍यक्ष रूप से 501 एमएलडी उत्‍सर्जन को गंगा नदी और इसकी वितरिकाओं में गिरने वाले नालों में छोड़ते हैं। सीपीसीबी ने गंगा नदी की मुख्‍य धारा में गिरने वाले 144 नालों की भी पहचान की है, जो लगभग 6614 एमएलडी सीवेज/अपशिष्‍ट जल छोड़ते हैं। सीपीसीबी ने 200 उद्योगों को पर्यावरण (संरक्षण) अधिनियम-1986 की धारा 5 के तहत और 178 इकाइयों को जल (प्रदूषण निवारण और नियंत्रण) अधिनियम, 1974 की धारा 18(1) (ख) के तहत निर्देश जारी किए हैं। उत्‍तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (यूपीपीसीबी) ने 98 चर्म इकाइयों को बंद करने का निर्देश जारी किया है। सीपीसीबी ने दिनांक 30 जून, 2015 से पहले इकाइयों द्वारा तात्‍कालिक (रियल टाइम) निगरानी की व्‍यवस्‍था स्‍थापित करने का निर्देश दिया है। सीपीसीबी ने गंगा नदी में उत्‍सर्जन को छोड़ने से रोकने के लिए क्षेत्रवार शून्‍य तरल उत्‍सर्जन (जीरो लिक्‍विड डिस्‍चार्ज) के कार्यान्‍वयन हेतु समयबद्ध निर्देश भी जारी किए हैं। इस आशय की जानकारी जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण राज्‍य मंत्री प्रो. सांवर लाल जाट ने राज्‍य सभा में एक लिखित प्रश्‍न के उत्‍तर में दी।

Leave A Comment