Breaking News:

उत्तराखंड में पांच और कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए, संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 31 -

Monday, April 6, 2020

सीएम ने उत्तराखंड के जवानों की शहादत को नमन किया -

Monday, April 6, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में बेहतर समन्वय के लिए बनाया गया कंट्रोल रूम -

Monday, April 6, 2020

पौड़ी : पाबौ में चट्टान से गिरने से महिला की मौत -

Monday, April 6, 2020

जुबिन नौटियाल ने ऑनलाइन शो से कोरोना फाइटर्स को कहा थैंक्यू -

Monday, April 6, 2020

अनूप नौटियाल व डा. दिनेश चौहान रहे कोरोना वाॅरियर -

Monday, April 6, 2020

पहल : देहरादून में 7745 भोजन पैकेट वितरित किये गये -

Sunday, April 5, 2020

सीएम त्रिवेन्द्र ने परिवार संग दीप जला कर हौसला बढाने का दिया सन्देश -

Sunday, April 5, 2020

उत्तराखंड में चार और कोरोना पाॅजीटिव मामले सामने आए, संख्या 26 हुई -

Sunday, April 5, 2020

दुःखद : जंगल की आग में जिंदा जली दो महिलाएं -

Sunday, April 5, 2020

आम आदमी की रसोईः जरूरतमंदों को दे रही भोजन और राशन -

Sunday, April 5, 2020

5 अप्रैल को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए अपने घरों में लाईट बंद कर दीपक जलाए : सीएम त्रिवेंद्र -

Saturday, April 4, 2020

लापता व्यक्ति का शव पाषाण देवी के मंदिर पास झील से बरामद हुआ -

Saturday, April 4, 2020

देहरादून : स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से 9482 भोजन पैकेट वितरित किये गये -

Saturday, April 4, 2020

उत्तराखंड में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या हुई 22 -

Saturday, April 4, 2020

सोशियल पॉलीगोन ग्रुप ऑफ कंपनी ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 5 लाख का चेक दिया -

Saturday, April 4, 2020

लॉकडाउन : रचायी जा रही शादी पुलिस ने रुकवाई, 15 लोगों पर मुकदमा दर्ज -

Friday, April 3, 2020

उत्तराखंड : त्रिवेन्द्र सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए जारी किये 85 करोङ रूपए -

Friday, April 3, 2020

ऋषियों का मूल मंत्र ’तमसो मा ज्योतिर्गमय’ एक अद्भुत आइडियाः स्वामी चिदानन्द सरस्वती -

Friday, April 3, 2020

आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने किया रक्तदान -

Friday, April 3, 2020

भगवान बद्री विशाल को 600 साल बाद चढ़ाया गया सोने का छत्र

badrinath

भगवान बद्री विशाल ने आज नया छत्र धारण किया। पंजाब के लुधियाना निवासी श्रद्धालु ज्ञानेश्वर एक श्रद्धालु परिवार ने मंदिर समिति को यह छत्र दान किया। धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल के मुताबिक करीब छह सौ साल बाद भगवान बदरी विशाल का छत्र बदला गया है। बताया कि तब ग्वालियर राजघराने ने यह छत्र चढ़ाया था। लुधियाना निवासी श्रद्धालु ज्ञानेश्वर सूद ने अपने दादा विमुक्ति महाराज की स्मृति में भगवान बदरी विशाल को चार किलोग्राम वजनी सोने का रत्नजडि़त छत्र दान देने की इच्छा जताई थी। बुधवार सुबह हेलीकाप्टर से छत्र को बदरीनाथ धाम लाया गया। हेलीपैड से बदरीनाथ मंदिर तक लगभग एक किलोमीटर तक बदरी विशाल के जयकारों के साथ शोभायात्रा निकालकर छत्र को धाम तक पहुंचाया गया। शाम करीब पांच बजे बदरीनाथ धाम में मंत्रोच्चार के बीच छत्र को मंदिर के भीतर लेकर गए। धार्मिक रीति रिवाजों के अनुसार पूजा अर्चना के बाद मुख्य पुजारी ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी ने छत्र गर्भगृह में भगवान नारायण की मूर्ति के ऊपर स्थापित किया। इस दौरान सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे।

Leave A Comment