Breaking News:

भाई की पुकार…….. -

Monday, August 3, 2020

भाजपा उत्तराखंड में 5 अगस्त को दीपमाला प्रकाशित कर मनाएगी उत्सव -

Monday, August 3, 2020

ऋषिकेश : दुर्घटना में चोटिल मां-बेटे को स्पीकर ने अपनी गाड़ी पहुंचाया अस्पताल -

Monday, August 3, 2020

उत्तराखंड: राजभवन में दो साल से मुसीबत का सबब बना उत्पाती बंदर रेस्क्य टीम ने दबोचा -

Monday, August 3, 2020

उत्तराखंड: आज इस जिले में मिले कोरोना के 100 से अधिक मरीज, जानिए खबर -

Monday, August 3, 2020

भाषा बोली किसी भी संस्कृति एवं सभ्यता का होता है आईना : मंत्री प्रसाद नैथानी -

Sunday, August 2, 2020

रक्षाबन्धन : आंगनबाड़ी और आशा कार्यकत्रि के खाते में एक-एक हजार रुपये की सम्मान राशि मिलेगी -

Sunday, August 2, 2020

उत्तराखंड: आज इन जिलों में मिले कोरोना के अधिक मरीज, जानिए खबर -

Sunday, August 2, 2020

पाताल से भी ढूढ निकालेंगे रिया चक्रवर्ती को : बिहार पुलिस -

Sunday, August 2, 2020

देहरादून : सार्वजनिक स्थानों पर मास्क न पहनने पर 532 लोगों का चालान किया -

Sunday, August 2, 2020

उत्तर प्रदेश : कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण की कोरोना से मौत -

Sunday, August 2, 2020

डमरूधारी भोला भण्डारी वीडियो गीत को किया लांच, जानिए खबर -

Saturday, August 1, 2020

उत्तराखंड : नरेश बंसल ने नई शिक्षा नीति लागू होने पर खुशी जताई -

Saturday, August 1, 2020

रक्षाबंधन के दिन सुबह 9.29 बजे तक भद्रा रहेगी, उसके बाद पूरे दिन राखी बांधने का समय -

Saturday, August 1, 2020

सकारात्मक पोस्ट के साथ दुष्प्रचार का भी जवाब दें सोशल मीडिया प्रभारीः मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र -

Saturday, August 1, 2020

उत्तराखंड: आज 264 कोरोना के नए मामले मिले -

Saturday, August 1, 2020

बद्रीनाथ धाम के प्रसाद अब देश और विदेश के श्रद्वालुओं को ऑनलाइन  मिलना शुरू, जानिए खबर -

Saturday, August 1, 2020

भारत : पूरे देश मे कोरोना मरीजो की संख्या पहुँची 17 लाख के करीब -

Saturday, August 1, 2020

उत्तराखंड: आज दो जिले को छोड़ बाकी सभी जिलों में मिले नए कोरोना मरीज, जानिए खबर -

Friday, July 31, 2020

उत्तराखंड | वरिष्ठ आईएएस अफसर ओमप्रकाश ने मुख्य सचिव पद का कार्यभार ग्रहण किया -

Friday, July 31, 2020

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को लेकर कसरत तेज , जानिए खबर

देहरादून | उत्तराखंड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव 16 जनवरी को होगा। केंद्रीय नेतृत्व की टीम रायशुमारी के लिए इस दिन देहरादून पहुंच रही है। मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, सांसद अजय टम्टा, कालाढूंगी विधायक बंशीधर भगत प्रबल दावेदारों में माने जा रहे थे, लेकिन अजय भट्ट ने अगले कार्यकाल के लिए अनिच्छा जाहिर कर दी है। हालांकि सूत्रों का यह भी कहना है कि आम सहमति नहीं बनने की सूरत में पार्टी भट्ट को एक और मौका दे सकती है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के नाम के ऐलान से पहले प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव तय माना जा रहा है। माना जा रहा है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष के नाम पर 20 जनवरी तक मुहर लग सकती है। ऐसे में प्रदेश अध्यक्ष का ऐलान तीन-चार दिन के भीतर हो सकता है। हालांकि, 30 दिसंबर तक यह ऐलान होना था, लेकिन सीएए को लेकर देशभर में बवाल मचने के बाद पार्टी के व्यस्त कार्यक्रमों के चलते प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव टल गया था। भाजपा के ये कार्यक्रम प्रदेशभर में 15 जनवरी तक प्रस्तावित है। इस दिन चुनाव का नोटिफिकेशन हो जाएगा। लिहाजा, इसके बाद नए प्रदेश अध्यक्ष को लेकर कसरत तेज होने जा रही है। भाजपा सूत्रों के अनुसार, 16 को रायशुमारी के लिए मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चैहान, केंद्रीय राज्यमंत्री अर्जुन सिंह मेघवाल के नेतृत्व में टीम पहुंचने वाली है। इसी दिन नाम के खुलासे की उम्मीद है। इससे पहले पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व सांसद विनय सहस्रबुद्धे और राष्ट्रीय सचिव आरपी सिंह एक बार रायशुमारी कर जा चुके हैं। यह तो तय है कि पार्टी का नया प्रदेश अध्यक्ष कुमाऊं मंडल से ही होगा। इस दौड़ में पार्टी के कई वरिष्ठ नेता शामिल हैं। इनमें सांसद अजय टम्टा, पूर्व सांसद बलराज पासी, कालाढुंगी विधायक बंशीधर भगत, खटीमा विधायक पुष्कर सिंह धामी, प्रांतीय महामंत्री राजेंद्र भंडारी के साथ ही वरिष्ठ नेता केदार जोशी व कैलाश पंत शामिल हैं। सूत्रों ने बताया, नए प्रदेश अध्यक्ष के चयन में जातीय व क्षेत्रीय संतुलन साधने की कोशिश की जा रही है। इसमें अजय भट्ट और बंशीधर भगत प्रबल दावेदारों में हैं। हाईकमान भट्ट को प्रदेश अध्यक्ष के रूप में एक साल का एक्सटेंशन भी दे चुका है। सांसद बनने के बाद वे व्यस्तता के चलते वे संगठन की बागडोर संभालने को लेकर अनिच्छा जता चुके हैं। वहीं, भगत यूपी के वक्त से विधायक हैं। वरिष्ठता के चलते उनका दावा मजबूत माना जा रहा है, लेकिन उनकी उम्र आड़े आ रही है। भगत को संघ की पसंद माना जाता है। अल्मोड़ा सांसद अजय टम्टा अनुसूचित जाति का बड़ा चेहरा होने से मजबूत प्रमुख दावेदार माने जा रहे हैं।

Leave A Comment