Breaking News:

उत्तराखंड : महसूस हुए भूकंप के झटके -

Tuesday, November 19, 2019

उत्तराखण्ड : समाज कल्याण विभाग के संयुक्त निदेशक गीताराम नौटियाल निलंबित -

Tuesday, November 19, 2019

मैट्रो से नही दून-ऋषिकेश व हरिद्वार को मिनी मैट्रो से जोड़ा जायेगा -

Tuesday, November 19, 2019

भोजपुरी फिल्म प्रोड्यूसर एवं फिल्म निर्देशक सीएम से की भेंट -

Tuesday, November 19, 2019

केदारनाथ परिसर में बनेगा भगवान शिव की पुरातात्विक महत्व की प्रतिमाओं का नया संग्रहालय, जानिए खबर -

Tuesday, November 19, 2019

कांग्रेस बागी विधायकों के लिए फिर दरवाजे खोलने को तैयार ! -

Monday, November 18, 2019

सीएम ने स्वच्छ कॉलोनी के पुरस्कार से किया सम्मानित, जानिए खबर -

Monday, November 18, 2019

पर्वतीय क्षेत्रों में 500 उपभोक्ता पर एक मीटर रीडर हो ,जानिए खबर -

Monday, November 18, 2019

ईरान एवं भारत में है गहरा सांस्कृतिक सम्बन्धः डॉ पण्ड्या -

Monday, November 18, 2019

गांधी पार्क में ओपन जिम का सीएम त्रिवेंद्र ने किया लोकार्पण -

Monday, November 18, 2019

स्मार्ट सिटी हेतु 575 करोड़ रूपए के कामों का हुआ शिलान्यास, जानिए खबर -

Sunday, November 17, 2019

मिसेज दून दिवा सेशन-2 के फिनाले में पहुंचे राहुल रॉय , जानिए खबर -

Sunday, November 17, 2019

शीघ्र ही नई शिक्षा नीति : निशंक -

Sunday, November 17, 2019

उत्तराखंड : युवा इनोवेटर्स ने विकसित किए ऊर्जा दक्ष वाहन -

Sunday, November 17, 2019

यमकेश्वर : कार्यरत स्टार्ट अप को मुख्यमंत्री ने दिए 10 लाख रूपए -

Sunday, November 17, 2019

भगवा रक्षा दल : पंकज कपूर बने प्रदेश मीडिया प्रभारी -

Saturday, November 16, 2019

उत्तराखण्ड स्कूलों में वर्चुअल क्लास शुरू करने वाला बना पहला राज्य -

Saturday, November 16, 2019

सूचना कर्मचारी संघ चुनाव : भुवन जोशी अध्यक्ष , सुषमा उपाध्यक्ष एवं सुरेश चन्द्र भट्ट चुने गए महामंत्री -

Saturday, November 16, 2019

रेस लगाना पड़ा महंगा, हादसे में तीन की मौत -

Saturday, November 16, 2019

पब्लिक रिलेशंस सोसाइटी आफ इंडिया : 41वीं नेशनल कान्फ्रेंश के ब्रोशर का हुआ विमोचन -

Saturday, November 16, 2019

भारी बारिश और बाढ़ से राज्यों में हाहाकार, अब तक 93 की मौत

बारिश और बाढ़ के चलते केरल, कर्नाटक और महाराष्ट्र में पिछले 72 घंटों में तीनों राज्यों में 93 जानें जा चुकी हैं। बाढ़ प्रभावित चार राज्यों के 16 जिलों में 123 रेस्क्यू टीमें फंसे हुए लोगों को मदद पहुंचा रही हैं। बाढ़ और बारिश से केरल में इस मॉनसून के दौरान 42 लोगों की मौत हो चुकी है। केरल के वायनाड और मलप्पुरम में भूस्खलन के चलते 40 लोग अभी भी फंसे हैं जिससे मौत का आंकड़ा और बढ़ने की आशंका है। यहां खराब मौसम के कारण रेस्क्यू ऑपरेशन बाधित हो रहा है। रेस्क्यू ऑपरेशन में सेना और एनडीआरएफ की मदद ली जा रही है। तमिलनाडु में भी बारिश के चलते 5 की मौत हो चुकी है। भारतीय सेना, नेवी और एयरफोर्स के जवान राहत कार्य में जुटे हैं। केरल में इस मॉनसूनी बारिश का विकराल रूप पिछले साल वाली अगस्त त्रासदी की दर्दनाक यादें ताजा कर रही है। शुक्रवार को केरल में 27 जबकि 7 लोगों की मौत शनिवार को हो गई। यहां पिछले 72 घंटे में कुल मिलाकर 42 लोगों की जान चली गई। यहां वायनाड और मलप्पुरम में बड़े भूस्खलन के चलते अभी 40 लोग फंसे हुए हैं जिससे मौत का आंकड़ा बढ़ने की आशंका है। रेस्क्यू टीमें यहां पहुंच चुकी हैं लेकिन खराब मौसम के कारण बचाव अभियान में खलल पैदा हो रही है। कर्नाटक के बगलकोट, रायचूर, बेलगाम और कलबुर्गी जिलों में 33 राहत टीमें और इंजिनियरों के 31 टास्क फोर्स बाढ़ से प्रभावित लोगों को राहत पहुंचाने के काम में जुटे हैं। वहीं केरल में 24 राहत टीमों के साथ 8 इंजिनियर टास्क फोर्स को अलेप्पी, एर्नाकुलम, पथानमथिट्टा, इदुक्की, मलप्पुरम, वायनाड, कन्नूर और कोझिकोड में राहत और बचाव के काम में लगाया गया है। रेस्क्यू टीमों ने वायनाड से 8 शव बरामद किए हैं जबकि मलप्पुरम के पहाड़ी क्षेत्रों में आए भूस्खलन के चलते 10 लोगों की मौत हो गई और 30 लापता हैं। मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने बताया कि अभी भी भूस्खलन में कई लोग लापता हैं, इसलिए सही आंकड़ा बाद में ही पता चलेगा। केरल में अभी भी 20 से 40 सेमी की रफ्तार से बारिश हो रही है। बारिश के चलते कोच्चि एयरपोर्ट से रविवार दोपहर तीन बजे तक विमानों का संचालन बंद रहा। मौसम विभाग ने केरल के सात जिलों- एर्नाकुलम, इडुकी, पलक्कड़, मलप्पुरम, कोझिकोड, वायनाड और कन्नूर में शनिवार को भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है। 13 एनडीआरएफ टीमें और 180 सेना के जवान रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए केरल पहुंच चुके हैं। अब तक 64 हजार से ज्यादा लोग राहत शिविरों में शिफ्ट किए जा चुके हैं।

Leave A Comment