Breaking News:

त्रिवेंद्र सरकार के ढाई वर्ष : उत्तराखंड राज्य के विकास दर में हुई वृद्धि -

Wednesday, September 18, 2019

केजरीवाल सरकार : मजदूर की बेटी शशि बनेगी एमबीबीएस -

Wednesday, September 18, 2019

पुलिस कर्मियों के सामने ‘बेघर’ का संकट -

Wednesday, September 18, 2019

डेंगू और अब स्वाइन फ्लू का अटैक -

Wednesday, September 18, 2019

पंचायत चुनाव: विकास खण्ड मुख्यालय पर होगा चुनाव चिन्ह आवंटन -

Wednesday, September 18, 2019

गरीब बच्चों को राज्यपाल ने स्कूल टिफिन और छाते उपहार स्वरूप किये भेंट -

Tuesday, September 17, 2019

मोटोरोला ने लांच किया स्मार्ट टीवी , जानिए खबर -

Tuesday, September 17, 2019

पीएम नरेन्द्र मोदी के जन्मोत्सव पर चित्र प्रदर्शनी का सीएम त्रिवेंद्र ने किया शुभारंभ -

Tuesday, September 17, 2019

सिर पर हेल्मेट होती तो बच जाती लगभग पचास हज़ार लोगों की जान , जानिए खबर -

Tuesday, September 17, 2019

उत्तराखण्ड में होगा एनआरसी लागू, सीएम ने दिए संकेत -

Tuesday, September 17, 2019

हमारी प्रेरणा एवं ऊर्जा के श्रोत हैं पीएम नरेंद्र मोदी : सीएम त्रिवेंद्र -

Tuesday, September 17, 2019

राज्य की आर्थिक स्थिति और मजबूत हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Monday, September 16, 2019

देहरादून से वाराणसी के लिए हवाई सेवा 28 सितम्बर से -

Monday, September 16, 2019

ऋषभ पंत के लिए खतरे की घण्टी, जानिए खबर -

Monday, September 16, 2019

एक परीक्षा ऐसा भी : पुस्तक साथ ले जाने की छूट -

Monday, September 16, 2019

सीबीएसई ने जारी की डेंगू से बचाव के लिए एडवायजरी -

Monday, September 16, 2019

फर्जी प्रमाण-पत्रों से नौकरी पाने वाले शिक्षकों की मुश्किलें बढ़ी -

Sunday, September 15, 2019

डेंगू का डंक : बकरी के दूध की डिमांड बढ़ी -

Sunday, September 15, 2019

मैक्स अस्पताल की फ्री बस सेवा का शुभारंभ -

Sunday, September 15, 2019

मुख्‍यमंत्री के पालतू कुत्‍ते की मौत, डॉक्‍टर पर एफआईआर -

Sunday, September 15, 2019

मंत्रियों की अनुभवहीनता व अज्ञानता का अधिकारी उठा रहे लाभ : जनसंघर्ष मोर्चा

विकासनगर। जनसंघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जी0एम0वी0एन0 के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने कहा कि प्रदेश के अधिकांश मंत्रियों व मुख्यमन्त्री की अनुभवहीनता व अज्ञानता प्रदेश के विकास व आम आदमी को न्याय दिलाने की प्रक्रिया में बाधा बनी हुई है। मोर्चा कार्यालय में पत्रकारों से वार्ता करते हुए श्री नेगी ने कहा कि बड़ी हैरानी की बात है कि सरकारी धन योजना को किस तरह ठिकाने लगाना है व अपने व्यापार को कैसे बढ़ाना है, ये तो मंत्री, मुख्यमंत्री भली-भाॅंति जानते हैं लेकिन महत्व मामलों जैसे उच्चतम न्यायालय, उच्च न्यायालय व जनहित आदि के महत्वपूर्ण मामलों, फैसलों का आमजन पर प्रभाव उनके हितों की रक्षा, उनको होने वाले लाभ, कल्यााकारी योजनाओं आदि मामलों में मंत्रियों की अनुभवहीनता जनता के हितों पर कुठाराघात कर रही हैं। नेगी ने कहा कि कई मामलों में उच्च न्यायालय या शीर्ष न्यायालय जनहित में बड़ा फैसला देते हैं, जिससे जनता को उसका लाभ मिले, लेकिन अधिकारी कार्य विभाजन का लाभ उठाकर (सचिवालय अनुदेश के नियम 14 व 15 के तहत) अपने पक्ष में आदेश करा लेते हैं, जिस कारण सम्बन्धित मंत्री तक पत्रावली उनके सज्ञानार्थ लायी ही नहीं जाती, यानि उनकी राय तक नहीं ली जाती। उक्त मामले में अधिकारी पत्रावलियों को अनावश्यक रूप से घुमाते रहते हैं, जिससे सरकारी धन का भारी दुरूपयोग होता है। अगर न्यायालय के आदेशों का मंत्रीगण अध्ययन नहीं कर सकते तो अधिकारी व अपने विश्वस्तों से ही राय मशवरा कर लिया करें। मोर्चा ने व्यंग कसते हुए कहा कि मंत्री, मुख्यमंत्री न्यायिक व जनहित आदि के मामले में थोड़ा सा ज्ञान जरूर हासिल कर लें। पत्रकार वार्ता में मोर्चा महासचिव आकाश पंवार, दिलबाग सिंह, विजयराम शर्मा, बिरेन्द्र सिंह आदि उपस्थित रहे।

Leave A Comment