Breaking News:

उत्तराखंड: आज देहरादून में चार सौ से अधिक कोरोना मरीज मिले, जानिए खबर -

Sunday, September 20, 2020

कोरोना महामारी मे मदद का हाथ बढ़ा रहे विरेन्द्र सिंह रावत -

Sunday, September 20, 2020

देहरादून स्थित सभी कोर्ट एक ही परिसर में स्थापित हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, September 20, 2020

चीन को खुफिया जानकारी देने पर पत्रकार समेत तीन गिरफ्तार -

Sunday, September 20, 2020

उत्तराखंड कांग्रेस ने एक सप्ताह तक के सभी सार्वजनिक कार्यक्रम किये रद्द -

Sunday, September 20, 2020

ब्रांडेड कपड़े के नाम पर नकली माल, रहे सावधान, जानिए खबर -

Sunday, September 20, 2020

भारत में खेल प्रेमियों के लिए आने वाला समय उत्साहजनक -

Sunday, September 20, 2020

उत्तराखंड: आज कोरोना का महा कहर , दो हज़ार से अधिक मरीज मिले जानिए खबर -

Saturday, September 19, 2020

हर स्थिति के साथ बढ़ती गयी हिम्मत : नमन भारद्वाज -

Saturday, September 19, 2020

जरा हटके : कोरोना मरीजो के मनोरंजन के लिए गीत संगीत का आयोजन -

Saturday, September 19, 2020

उत्तराखंड की जेलों में बड़ी संख्या में गंभीर रोगी हैैं केैद, जानिए खबर -

Saturday, September 19, 2020

देहरादून : होम आईसोलेशन के लिए जिला सर्विलांस अधिकारी से अनुमति प्राप्त करना अनिवार्यः डीएम -

Saturday, September 19, 2020

कोरोना योद्धा हुए सम्मानित, जानिए खबर -

Friday, September 18, 2020

उत्तराखंड: प्रदेश में कोरोना मरीजो की संख्या 38 हज़ार पार , जानिए खबर -

Friday, September 18, 2020

जनता से किए 85 फीसदी वायदे किये पूरे : सीएम त्रिवेंद्र -

Friday, September 18, 2020

किस अभिनेत्री ने कही यह बात , मेरा मीडिया ट्रायल ना किया जाए -

Friday, September 18, 2020

एसबीआई : एटीएम से दस हज़ार से अधिक की राशि निकालने पर यह नियम लागू, जानिए खबर -

Friday, September 18, 2020

उत्तराखंड: प्रदेश में कोरोना मरीजो की संख्या पहुँची 37139 , जानिए खबर -

Thursday, September 17, 2020

कैबिनेट बैठक : सरकार ने व्यावसायिक वाहनों के टैक्स में छूट तीन माह तक बढ़ाया -

Thursday, September 17, 2020

कुपोषण मुक्त बच्चों के अभिभावकों को सीएम त्रिवेंद्र ने किया सम्मानित -

Thursday, September 17, 2020

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने की प्रदेश्वासियों से मुख्यमंत्री राहत कोष में सहयोग की अपील

मुख्यमंत्री राहत कोष में अबतक लगभग 55 करोड़ रुपये की धनराशि हुई इकठ्ठा

बेसहारा, निर्धन लोगों के साथ ही पर्यटकों, श्रमिकों व जरूरतमंदों को दी जा रही मदद

देहरादून । मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम, बचाव व राहत कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने मुख्यमंत्री राहत कोष में अब तक प्राप्त धनराशि के साथ ही राहत एवं बचाव कार्यों पर व्यय हुई धनराशि की समीक्षा की। उन्होंने कहा है कि वर्तमान में पूरे विश्व के साथ ही देश एवं प्रदेश में कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी के कारण आम जनमानस के स्वास्थ्य एवं आर्थिक सुरक्षा के लिये गम्भीर चुनौतियां पेश हुई हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस संकट के समय देश एवं प्रदेश की जनता द्वारा उदारतापूर्वक मुख्यमंत्री राहत कोष में दान दिया जा रहा है जिसमें देश एवं प्रदेश के प्रत्येक वर्ग जिसमें सफाई कर्मियों, दैनिक वेतनभोगियों, कर्मचारियों, अधिकारियों, महानुभावों, विभिन्न संगठनों, स्वंयसेवी संस्थाओं, विभिन्न निगमों, शैक्षणिक संस्थाओं, व्यवसायिक प्रतिष्ठानों एवं आम जनमानस आदि से अभी तक लगभग 55 करोड रु दान के रूप में प्राप्त हुये हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने इसके लिए सभी दान-दाताओं का हार्दिक आभार प्रकट करते हुये धन्यवाद भी ज्ञापित किया है। मुख्यमत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि राज्य स्तर पर इस आपदा कि स्थिति से निपटने हेतु जिन कार्यों में भारत सरकार, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ एवं किसी अन्य मद से वित्तीय स्वीकृति दिया जाना संभव नहीं था उनमें मुख्यमंत्री राहत कोष से धनराशि आवंटित की जा रही है। मुख्यमंत्री राहतकोष से मुख्यतः बेसहारा, निर्धन, असंगठित क्षेत्र के मजदूरांे और जरूरतमंद छात्र-छात्राओं, पर्यटकों आदि की भोजन व्यवस्था हेतु जिलाधिकारियों को 30 करोड़, स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार व सुदृढीकरण हेतु 10 करोड रूपये चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग को, 10 करोड चिकित्सा शिक्षा विभाग को, कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टिगत चिन्हित किये गये गढवाल एवं कुमॉंऊ मण्डल के पर्यटक गृहो में कोरनटाईन सुविधायें विकसित किये जाने हेतु 1.00 करोड़ पर्यटन विभाग को, लाकडाउन में राज्य के विभिन्न स्थानों मे फॅंसे पर्यटकों व तीर्थ यात्रियों को उनके गन्तव्य तक पहुचाने के दृष्टिगत 1 करोड परिवहन निगम को एवं नई दिल्ली मे फॅसे उत्तराखण्ड के जरूरतमंदों की भोजन व ठहरने आदि की व्यवस्था हेतु 50 लाख अपर स्थानिक आयुक्त को आवंटित किये गये हैं। साथ ही कोविड-19 के संक्रमण, बचाव व राहत कार्यों में तैनात कोरोना वारियर्स के जीवन को यदि दुर्भाग्यवश क्षति होती है तो उनके आश्रितों को सम्मान निधि के रूप में 10 लाख दिये जाने का निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री का मानना है कि किसी भी आपदा की स्थिति का बेहतर ढंग से सामना करने हेतु सार्वजनिक भागीदारी सबसे प्रभावी तरीका है जिसमें हम सब मिलकर कोविड-19 को हराने में समर्थ होंगे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा अवगत कराया कि मुख्यमंत्री राहत कोष, उत्तराखण्ड के पक्ष मे बैंक ड्राफ्ट चैक के साथ ही भारतीय स्टेट बैंक, सचिवालय शाखा मे संचालित खाता संख्या-30395954328 के साथ ही सीधे मुख्यमंत्री राहत कोष, उत्तराखण्ड की वेबसाइट के माध्यम से धनराशि दान की जा सकती है। सचिव मुख्यमंत्री राधिका झा ने बताया कि कतिपय उद्योग, कम्पनियां, व्यवसायिक प्रतिष्ठान राज्य को वित्तीय सहायता देने के इच्छुक हैं। उन्होंने इस सम्बन्ध में सभी सम्बन्धित संस्थानों से अपेक्षा की है कि वह उत्तराखण्ड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के पक्ष मे भारतीय स्टेट बैंक, सचिवालय शाखा में संचालित खाता संख्या-39282041468 में अपना योगदान कर सकते हैं।

Leave A Comment