Breaking News:

त्रिवेंद्र सरकार के ढाई वर्ष : उत्तराखंड राज्य के विकास दर में हुई वृद्धि -

Wednesday, September 18, 2019

केजरीवाल सरकार : मजदूर की बेटी शशि बनेगी एमबीबीएस -

Wednesday, September 18, 2019

पुलिस कर्मियों के सामने ‘बेघर’ का संकट -

Wednesday, September 18, 2019

डेंगू और अब स्वाइन फ्लू का अटैक -

Wednesday, September 18, 2019

पंचायत चुनाव: विकास खण्ड मुख्यालय पर होगा चुनाव चिन्ह आवंटन -

Wednesday, September 18, 2019

गरीब बच्चों को राज्यपाल ने स्कूल टिफिन और छाते उपहार स्वरूप किये भेंट -

Tuesday, September 17, 2019

मोटोरोला ने लांच किया स्मार्ट टीवी , जानिए खबर -

Tuesday, September 17, 2019

पीएम नरेन्द्र मोदी के जन्मोत्सव पर चित्र प्रदर्शनी का सीएम त्रिवेंद्र ने किया शुभारंभ -

Tuesday, September 17, 2019

सिर पर हेल्मेट होती तो बच जाती लगभग पचास हज़ार लोगों की जान , जानिए खबर -

Tuesday, September 17, 2019

उत्तराखण्ड में होगा एनआरसी लागू, सीएम ने दिए संकेत -

Tuesday, September 17, 2019

हमारी प्रेरणा एवं ऊर्जा के श्रोत हैं पीएम नरेंद्र मोदी : सीएम त्रिवेंद्र -

Tuesday, September 17, 2019

राज्य की आर्थिक स्थिति और मजबूत हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Monday, September 16, 2019

देहरादून से वाराणसी के लिए हवाई सेवा 28 सितम्बर से -

Monday, September 16, 2019

ऋषभ पंत के लिए खतरे की घण्टी, जानिए खबर -

Monday, September 16, 2019

एक परीक्षा ऐसा भी : पुस्तक साथ ले जाने की छूट -

Monday, September 16, 2019

सीबीएसई ने जारी की डेंगू से बचाव के लिए एडवायजरी -

Monday, September 16, 2019

फर्जी प्रमाण-पत्रों से नौकरी पाने वाले शिक्षकों की मुश्किलें बढ़ी -

Sunday, September 15, 2019

डेंगू का डंक : बकरी के दूध की डिमांड बढ़ी -

Sunday, September 15, 2019

मैक्स अस्पताल की फ्री बस सेवा का शुभारंभ -

Sunday, September 15, 2019

मुख्‍यमंत्री के पालतू कुत्‍ते की मौत, डॉक्‍टर पर एफआईआर -

Sunday, September 15, 2019

लक्ष्मणझूला पुल पर “नो एंट्री”

देहरादून। प्रदेश सरकार ने ऋषिकेश के लक्ष्मणझूला पुल पर आवाजाही पर रोक लगा दी है। पीडब्ल्यूडी की सर्वे रिपोर्ट में पुल की मियाद खत्म होने के खुलासे को लेकर सरकार ने यह कदम उठाया है। अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने पुल पर आवाजाही पर रोक लगाने के निर्देश तत्काल जारी कर दिए हैं। हालांकि, पीडब्ल्यूडी ने अपने सर्वे में आवाजाही के लिहाज से रामझूला पुल को सुरक्षित पाया है। इस पर आवाजाही की जा सकती है। बता दें कि इस पुल को बने हुए 33 साल हो चुके हैं। यह मामला इसलिए और अहम था, क्योंकि एक सप्ताह बाद ही कांवड़ यात्रा शुरू होने वाली है। शासन ने कांवड़ियों के नीलकंठ जाने के लिए लक्ष्मणझूला के जरिये ही रूट तय किया है। लक्ष्मणझूला पुल का निर्माण 1929 में हुआ था, जिसे आवाजाही के लिए 1930 में खोला गया था। रिपोर्ट के मुताबिक, 89 साल पहले के डिजाइन और क्षमता के हिसाब से पुल आज इस स्थिति में नहीं है कि इस पर अब बड़ी संख्या में लोग आवाजाही कर सकें। पुराने समय में झूला पुलों का निर्माण करते हुए पुल की क्षमता का ध्यान नहीं रखा जाता था, जबकि वर्तमान में 500 किलोग्राम प्रति स्क्वायर मीटर की क्षमता के झूला पुल बनाए जाते हैं।

Leave A Comment