Breaking News:

उत्तराखण्ड का एडवेंचर टूरिज्म जल्द ही एमटीवी पर दिखेगा -

Thursday, February 20, 2020

सीएम ने बागेश्वर में 44 योजनाओं का किया शिलान्यास एवं लोकार्पण -

Thursday, February 20, 2020

उत्तराखंड में 10 हजार लोगो को आप पार्टी से जोड़ने का लक्ष्यः एसएस कलेर -

Thursday, February 20, 2020

‘इण्डिया ड्रोन फेस्टिवल-2.0‘ का सीएम त्रिवेंद्र ने किया शुभारम्भ -

Thursday, February 20, 2020

नैनीताल हाईकोर्ट के अगले चीफ जस्टिस होंगे आर.बी. मलिमथ -

Thursday, February 20, 2020

गैरसैंण में विधानसभा सत्र तीन मार्च से, जानिए खबर -

Thursday, February 20, 2020

आयोग की परीक्षाओं में न होने पाए कोई गड़बड़ी : सीएम त्रिवेंद्र -

Wednesday, February 19, 2020

जरा हटके : पत्नी से लड़ाई झगड़ा फिर पति का शांतिभंग में चालान, जानिए खबर -

Wednesday, February 19, 2020

परिवर्तन नहीं, अफवाहें विरोधियों का षड़यंत्रः भगत -

Wednesday, February 19, 2020

दुराचार का आरोपी गिरफ्तार, जेल भेजा -

Wednesday, February 19, 2020

उत्तराखंड : एनडी तिवारी के “पाँच साल” की राह पर सीएम त्रिवेंद्र -

Wednesday, February 19, 2020

देवभूमि में ‘पॉलीटेक्निक स्पोर्ट्स मीट 2020’ का समापन -

Tuesday, February 18, 2020

आढ़तियों के चालान पर पूर्व अध्यक्ष आए बचाव में, जानिए खबर -

Tuesday, February 18, 2020

वैलनेस और आयुष का मुख्य डेस्टीनेशन है उत्तराखण्ड: सीएम त्रिवेन्द्र -

Tuesday, February 18, 2020

जरा हटके : समुद्र में ढाई किमी तैरेंगे डॉ आदेश -

Tuesday, February 18, 2020

उत्तरकाशी: भागीरथी में गिरी कार , छह की मौत -

Tuesday, February 18, 2020

सीएम हर बुधवार व गुरूवार विधानसभा कार्यालय में, जानिए खबर -

Tuesday, February 18, 2020

केजरीवाल के शपथ ग्रहण में शामिल हुए “आप” उत्तराखंड के नेता -

Monday, February 17, 2020

उत्तराखंड: राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए भडोली गांव का हुआ चयन -

Monday, February 17, 2020

अनशन : साध्वी पद्मावती की हालत बिगड़ी, ऋषिकेश एम्स रेफर -

Monday, February 17, 2020

विभिन्न लोक संस्कृतियां मिलकर हमें दिलाती है पहचान: सीएम त्रिवेंद्र

देहरादून | मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत रविवार को देर सांय सुभाष रोड स्थित स्थानीय वैडिंग प्वाइंट में अयोजित हिमालयन ट्राइब महोत्सव में सम्मिलित हुए। मुख्यमंत्री ने रं-रौंगपा-जाड़-शौका जनजाति की ओर से आयोजित इस महोत्सव को जनजाति समाज की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को पहचान दिलाने का कारगर प्रयास बताया। उन्होंने कहा कि हमें अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत की पहचान को बनाये रखना होगा। बड़ी संख्या में युवाओं द्वारा इस आयोजन में की गई पहल को भी उन्होंने सराहनीय बताया। उन्होंने कहा कि आज जरूरत है युवाओं को अपनी समृद्ध लोक संस्कृति, बोली, भाषा व सांस्कृतिक विरासत से जोड़ने की। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस प्रकार गंगा में अनेक धाराओं के मिलन से गंगा गंगा ही रहती उसी प्रकार हमारी विभिन्न लोक संस्कृतियां मिलकर हमें पहचान दिलाती है। हमारी संस्कृति हमारी विरासत है इस विरासत से भावी पीढी को परिचित कराने का कार्य हमें करना होगा। हमारी खूबसूरती का रहस्य भी हमारी लोक संस्कृति ही है। उन्होंने कहा कि आज जब हर घंटे में एक बोली समाप्त हो रही है, भाषा सिमट रही है ऐसे में अपनी बोली, भाषा, वेश-भूषा, लोक कला व लोक संस्कृति को संरक्षित करने के समेकित प्रयास किये जाने चाहिए। उन्होंने इसके लिये राज्य सरकार की ओर से अपेक्षित सहयोग का भी आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि राज्य में अपनी लोक भाषाओं को संरक्षित करने के लिये उन्हें पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जा रहा है जिसकी शुरूआत पौड़ी से की गई है, अल्मोड़ा से भी शीघ्र यह पहल आरम्भ की जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि नीति घाटी, हर्षिल, रं घाटी, दारमा, व्यास, चौदास का प्राकृतिक सौन्दर्य एवं लोक संस्कृति बेजोड़ है। प्रसिद्ध फिल्मकार महेश भट्ट जैसे कई फिल्मकार यहां के प्राकृतिक सौन्दर्य से काफी प्रभावित हुए हैं। उन्होंने युवाओं से अपनी संस्कृति से जुड़े रहने का भी आह्वान किया। महोत्सव में जनजाति क्षेत्रों के लोक कलाकारों द्वारा प्रस्तुति दी गई। इस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने श्री डी.एस. नेथवाल द्वारा तैयार की गई विडियो ‘‘अंग भी हुंटी‘‘ का भी विमोचन किया। कार्यक्रम में मंगला माता, चार धाम विकास परिषद के उपाध्यक्ष शिवप्रसाद ममगाई, सी.एस.नपलच्याल, डॉ आई.एस.पाल सहित बड़ी संख्या में जनजाति समाज के लोग उपस्थित थे। 

Leave A Comment