Breaking News:

आरटीआई कार्यकर्ता सैफअली सिद्दीकी ने राज्य सूचना आयोग को लिखा पत्र , जानिए खबर -

Thursday, September 24, 2020

“आप” ने किया विधानसभा का घेराव, अध्यक्ष समेत कई कार्यकर्ता गिरफ्तार -

Thursday, September 24, 2020

एक नज़र : गर्भपात मामलों में बढोत्तरी -

Thursday, September 24, 2020

जरा हटके : उत्तराखंड में विश्व प्रसिद्ध फूलों की घाटी में आपका स्वागत -

Thursday, September 24, 2020

उत्तराखंड विधानसभा सत्र : सदन में सभी 19 विधेयक पारित -

Wednesday, September 23, 2020

उत्तराखंड: प्रदेश में आज चार जिलों में कोरोना का कोहराम , जानिए खबर -

Wednesday, September 23, 2020

अंपायर के फैसले बदलने पर धोनी निराश, जानिए खबर -

Wednesday, September 23, 2020

ड्रग्स कनेक्शन की आंच दीपिका पादुकोण तक पहुँची, जानिए खबर -

Wednesday, September 23, 2020

देहरादून : युवक ने जहर खाकर की आत्महत्या -

Wednesday, September 23, 2020

जरा हटके : एसबीआई कार्ड ने गूगल के साथ की साझेदारी -

Wednesday, September 23, 2020

दुःखद : सीएम के ओएसडी गोपाल रावत का कोरोना के चलते निधन -

Tuesday, September 22, 2020

उत्तराखंड: प्रदेश में कोरोना मरीजो की संख्या पहुँची 42651, जानिए खबर -

Tuesday, September 22, 2020

सराहनीय कार्य : जरूरतमंद बच्चों को शिक्षा सामाग्री किये वितरित -

Tuesday, September 22, 2020

बेटी दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन, जानिए खबर -

Tuesday, September 22, 2020

सीएम त्रिवेन्द्र एवं वन मंत्री ने ‘आनन्द वन’ का किया लोकापर्ण -

Tuesday, September 22, 2020

महाआरती का आयोजन, जानिए खबर -

Tuesday, September 22, 2020

कोरोना के कारण भर्ती प्रक्रियाओं में न हो विलम्ब : मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र -

Tuesday, September 22, 2020

राज कम्युनिकेशन के सफलतापूर्वक 15 वर्ष हुए पूरे, जानिए खबर -

Monday, September 21, 2020

उत्तराखंड: आज प्रदेश में मिले 814 कोरोना मरीज, जानिए खबर -

Monday, September 21, 2020

IPL : भारतीय खिलाड़ियों की फिटनेस को लेकर उठ रहे सवाल -

Monday, September 21, 2020

वीरेन्द्र सिंह रावत का शिष्य चर्चिल राणा बना पहला राष्ट्रीय रेफरी, जानिए खबर

देहरादून| उत्तराखंड के वीरेन्द्र सिंह रावत पूर्व राष्ट्रीय खिलाड़ी, वर्तमान राष्ट्रीय कोच और क्लास वन रेफरी जिनके मार्ग दर्शन पर देहरादून के बेल रोड, क्लेमनटाउन निवासी चर्चिल राणा हाल ही मे 82 रेफरी को पीछे छोड़कर टॉप 4 मे फाइनल राउन्ड मे फर्स्ट स्थान प्राप्त किया और ऑल इंडिया फुटबाल फेडरेशन नई दिल्ली के रेफरी डिपार्टमेंट के डायरेक्टर रविशंकर जे ने नैशनल रेफरी का पत्र प्रदान किया आज दिनाँक 28 जनवरी को चर्चिल राणा जब नैशनल रेफरी बना तो सर्वप्रथम अपने गुरु से आशिर्वाद लेने के लिए गुरु के ऑफिस आए अपर नथनपूर देहरादून आए और आशीर्वाद लियाआज वीरेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि मेरे शिष्य फुटबाल के क्षेत्र मे चाहे खिलाड़ी हो, कोच हो और रेफरी हो जो मेरे द्वारा बताएं गए निर्देशों का पालन कर एवं  कोचिंग लेकर  उचित मुकाम पा रहे हैं और आज तक वीरेन्द्र सिंह रावत को इतने सारे 44 अवार्ड जो मिले वो मेरे खिलाड़ी, कोच और रेफरी को समर्पित हैवीरेन्द्र सिंह रावत ने अपने शिष्य को नैशनल रेफरी बनने पर उत्तराखंड फुटबाल रत्न अवार्ड 2019 के बेस्ट रेफरी के अवार्ड से सम्मानित किया आपको बता दे कि रावत ने बताया कि चर्चिल राणा को बचपन से फुटबाल का शौक था उनके पिताजी भी गोरखा राइफल्स मे बेह्तरीन फुटबाल खिलाड़ी थे उनको देखकर सीखा फुटबाल और पड़ाई के वी बिरपुर, देहरादून मे फुटबाल खेला और वहीं से स्कूल नैशनल एस जी एफ आई अंडर 19 खेला वहीं से 12th किया और देहरादून के केंट ब्लू एफ सी से भी देहरादून फुटबाल लीग खेली थी और समय समय पर कोच वीरेन्द्र सिंह रावत चर्चिल को फुटबॉल कोचिंग देते रहे 12th के बाद आर्मी मे स्पोर्ट्स कोटे मे वर्ष 2010 मे 3/11 गोरखा राइफल्स मे भर्ती हो गए आर्मी मे रहते हुवे भी कमांड फुटबॉल टूर्नामेंट खेला, आर्मी चैंपियनशिप खेलकर 3 बार टीम को विजयी बनाया लेकिन जाना कहीं और था चर्चिल को 2013 मे मैच खेलते हुवे घुटने मे चोट लग थी उसके बाद आगे नहीं खेल पाए उसके बाद एक साल ठीक होने के बाद वीरेन्द्र सिंह रावत ने चर्चिल को बताया कि अब आप रेफरी फिल्ड मे आ जाव फिर चर्चिल ने 2014 मे आर्मी मे रहते हुवे जब भी छूटी आते थे उत्तराखंड फुटबाल रेफरी एसोसिएशन  से जुड़ गए और रेफरी एसोसिएशन के सचिव श्री वीरेन्द्र सिंह रावत एवं गुरु से रेफरी के गुण सीखे वीरेन्द्र सिंह रावत 1998 से उत्तराखंड के रेफरी है अपना अनुभव चर्चिल को स्कूल स्तर के मैच मे मैच रेफरी बनाया और पूर्ण ईमानदारी से रेफरी करने लगे उसके बाद 2016 मे आर्मी के एस एस सी बी  मे रहते हुए ऑल इंडिया फुटबाल फेडरेशन के रेफरी के ग्रेड पांच की परिक्षा पास की, 2017 मे ग्रेड फोर्थ की परिक्षा पास की 2018 मे ग्रेड थर्ड की परीक्षा पास की ओर ग्रेड टू की नैशनल रेफरी का 2019 मे फिटनेस और लिखित परिक्षा दी  ओर हाल ही मे नैशनल रेफरी का परिणाम आया जिसमें पूरे भारत से 82 रेफरी ने परीक्षा दी थी जिसमें अगले राउन्ड मे 48 पास हुवे फिर प्रैक्टिकल मे 13 पास हुवे और उसके बाद फाइनल राउन्ड मे टॉप फोर मे नंबर वन मे रहे, चर्चिल एक मात्र नैशनल रेफरी है उत्तराखंड से जिन्होंने आर्मी मे रहते हुए ये उपलब्धी प्राप्त की अब जो जल्दी ही उत्तराखंड स्टेट फुटबाल एसोसिएशन से पंजीकृत हो गए हैं जिससे कि वो उत्तराखंड मे नए रेफरी तैयार कर सके |

Leave A Comment