Breaking News:

पूजा बेदी द्वारा फिक्की फ्लो के लिए ‘लाइफ ट्रांसफॉर्मेशन’ कार्यशाला -

Friday, July 20, 2018

पर्यटन व वन विभाग के मध्य उचित समन्वय आवश्यक : मुख्यमंत्री -

Friday, July 20, 2018

धरती के इतिहास में वैज्ञानिकों ने खोजा ‘मेघालय युग’ जानिये खबर -

Friday, July 20, 2018

सोनाली बेंद्रे ने बेटे रणवीर के लिए लिखी दिल छू जाने वाली बातें , जानिये खबर -

Friday, July 20, 2018

विकास कार्यों में धीमापन बरदाश्त नहींः मुख्यमंत्री -

Friday, July 20, 2018

सड़क पर पानी में खड़े होकर संभाला ट्रैफिक,जानिये खबर -

Friday, July 20, 2018

नैनीताल विधानसभा क्षेत्रों के विकास कार्यों की सीएम त्रिवेन्द्र ने की समीक्षा -

Thursday, July 19, 2018

एम्स ऋषिकेश पहुंचकर सीएम ने बस दुर्घटना के घायलों का जाना हाल-चाल -

Thursday, July 19, 2018

अपने सपने : पर्यावरण बचाने हेतु बच्चो ने किया लोगो को जागरूक -

Thursday, July 19, 2018

बहाली की मांग को लेकर धरना-प्रदर्शन का 79वा दिन, जानिये खबर -

Thursday, July 19, 2018

ऋषि कपूर की फिल्म “मुल्क” को U/A सर्टिफिकेट, जानिये खबर -

Thursday, July 19, 2018

जिंदा रहने के लिए गुफा की चट्टानों से टपकते पानी का किया इस्तेमाल , जानिये खबर -

Thursday, July 19, 2018

सुप्रीम कोर्ट ने खोले महिलाओ के लिए सबरीमाला मंदिर का द्वार ,जानिये खबर -

Thursday, July 19, 2018

उत्तराखंड : जर्मन डेवलपमेंट बैंक स्वच्छ पेयजल और गंगा सफाई के लिए देगा 960 करोड़ -

Wednesday, July 18, 2018

गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिले मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत -

Wednesday, July 18, 2018

डॉ. हाथी का रोल कर सकते हैं सतीश कौशिक, जानिये खबर -

Wednesday, July 18, 2018

100 का नया नोट होगा ऐसा , नोटों की छपाई शुरू -

Wednesday, July 18, 2018

एयर होस्टेस अनीशिया बत्रा की मौत मामले में आरोपी पति गिरफ्तार -

Wednesday, July 18, 2018

“स्पेशल बच्चों” का जीवन संवार रही है मणि , जानिये खबर -

Wednesday, July 18, 2018

खुलेगा सीबीएसई का ट्रेनिंग सेंटर देहरादून में , जानिये खबर -

Tuesday, July 17, 2018

वैश्यावृत्ति को लेकर उत्तराखंड में 139 मुकदमे दर्ज

sex-racket

देहरादून। उत्तराखंड गठन से सिम्बर 2017 तक 17 सालों में उत्तराखंड राज्य में अनैतिक व्यापार (निवारण) अधिनियम के अन्तर्गत वैश्यावृत्ति के कुल 139 मुकदमें दर्ज हुये हैं, जबकि इस अवधि में केवल 19 अभियुक्तों को सजा हुई है जबकि 60 अभियुक्तों को न्यायालयों द्वारा रिहा कर दिया गया है। 3 मामलों में पुलिस द्वारा फाइनल रिपोर्ट भी लगाई गयी है। यह खुलासा पुलिस मुख्यालय द्वारा सूचना अधिकार के अन्तर्गत सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन (एडवोकेट) को उपलब्ध करायी गयी सूचना से हुआ है। काशीपुर निवासी सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन (एडवोकेट) ने पुलिस मुख्यालय उत्तराखंड के लोक सूचना अधिकारी से उत्तराखंड गठन से लेकर सूचना देने की तिथि तक वैश्यावृत्ति सम्बन्धी कानून अनैतिक व्यापार (निवारण) अधिनियम के अन्तर्गत दर्ज मुकदमों तथा इस में सजा व रिहाई सम्बन्धी सूचना मांगी है। इसके उत्तर में पुलिस मुख्यालय के लोक सूचना अधिकारी/सहायक पुलिस महानिरीक्षक (प्रशिक्षण) एन.एस.नपलच्याल द्वारा मुकदमों की वर्ष वार तथा जिलावार सूचना अपने पत्रांक 377 दिनांक 26 सितम्बर 2017 से उपलब्ध करायी है। नदीम को उपलब्ध करायी गयी सूचना के अनुसार उत्तराखंड में वैश्यावृत्ति सम्बन्धी कानून अनैतिक व्यापार (निवारण) अधिनियम के अन्तर्गत कुल 139 मुकदमें दर्ज हुये है जिसमें सर्वाधिक 22-22 मुकदमें वर्ष 2014 व 2015 में दर्ज हुये है। जबकि वर्ष 2001 तथा 2005 में कोई मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है। दूसरे स्थान पर 21 मुकदमें वर्ष 2013 में दर्ज हुये है। इसके अतिरिक्त 2016 में 15 तथा 2012 व 2017 में (सूचना देने तक) 11-11 मुकदमें दर्ज हुये है। वर्ष 2010 मेें 9, वर्ष 2009 में 7, वर्ष 2007, 2008 तथा 2011 में 5-5 तथा वर्ष 2003 व 2004 में 2-2 तथा वर्ष 2002 तथा 2006 में 1-1 मुकदमा दर्ज हुआ है। नदीम को उपलब्ध सूचना के अनुसार कुल 139 मुकदमांे मेें सर्वाधिक 55 मकदमें देहरादून जिले में, दूसरे स्थान पर 27-27 मुकदमें उधमसिंह नगर तथा नैनीताल जिलों में, तीसरे स्थान पर 17 मुकदमें हरिद्वार जिले में दर्ज हुये है। उत्तरकाशी, रूद्रप्रयाग, चमोली जिले में कोई भी मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है। टिहरी अल्मोड़ा तथा बागेश्वर जिले में 1-1 मुकदमा दर्ज हुआ है जबकि चम्पावत में 2 तथा पौड़ी जिले में 3 तथा पिथौरागढ़ जिले में 5 मुकदमें दर्ज हुये है। नदीम को उपलब्ध सूचना के अनुसार वैश्यावृत्ति सम्बन्धी मामलों में उत्तराखंड गठन से सितम्बर 2017 तक कुल 19 अभियुक्तों को सजा हुई है जिसमें सर्वाधिक 7 अभियुक्तों को नैनीताल जिले में तथा 6 अभियुक्तों को पौड़ी जिले में तथा 3-3 अभियुक्तों को देहरादून तथा हरिद्वार जिले में दर्ज वैश्यावृत्ति सम्बन्धी मुकदमों में सजा हुई है। पुलिस द्वारा दर्ज मुकदमों में से तीन मुकदमों में फाइनल रिपोर्ट लगायी गयी है जिसमें 1-1 मुकदमा देहरादून, उधमसिंह नगर तथा नैनीताल जिले का शामिल है। वैश्यावृत्ति सम्बन्धी मुकदमों मेें अभी तक 60 अभियुक्तों को न्यायालयों द्वारा रिहा किया जा चुका है। जिसमें सर्वाधिक 25 अभियुक्त नैनीताल के, 9 अभियुक्त उधमसिंह नगर जिले के 6-6 अभियुक्त टिहरी व चम्पावत, 5 अभियुक्त पिथौरागढ़, 4 अभियुक्त बागेश्वर, 2-2 अभिुयक्त पौड़ी तथा अल्मोड़ा तथा 1 अभियुक्त देहरादून जिले के दर्ज मुकदमों का है।

Leave A Comment