Breaking News:

विदेशी नागरिकों को दिल्ली स्थित दूतावास भेजा गया -

Sunday, March 29, 2020

फल, सब्जी, राशन, दवा की दुकानों, गैस एजेंसियों पर कराया जा रहा सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन -

Sunday, March 29, 2020

कोरोना के खिलाफ लङाई में हम सभी प्रधानमंत्री जी के साथ हैंः सीएम -

Sunday, March 29, 2020

पहल : कोरोना वारियर्स के लिए एक छोटी सी कोशिश -

Sunday, March 29, 2020

31 मार्च को उत्तराखंड में एक जिले से दूसरे जिले मे जाने की अनुमति वापस … -

Sunday, March 29, 2020

उत्तराखंड में एक जिले से दूसरे जिले में जाने की अनुमति, केवल मंगलवार 31 मार्च के लिए -

Saturday, March 28, 2020

बीजेपी कार्यकर्ता मोहल्ले में देखें कि कोई गरीब भूखा ना सोए : सीएम त्रिवेन्द्र -

Saturday, March 28, 2020

हरिद्वार और पिथौरागढ़ के लिए मेडिकल कॉलेज की स्वीकृति, सीएम ने केंद्र सरकार का जताया आभार -

Saturday, March 28, 2020

उत्तराखंड में कोरोना वायरस संक्रमण का छठा मामला, जानिए खबर -

Saturday, March 28, 2020

दिल्ली में फंसे उत्तराखंड के 109 लोगों को घर पहुँचाने का इंतजाम किया त्रिवेन्द्र सरकार ने -

Friday, March 27, 2020

पहले कोरोना मरीज तीन आईएफएस अधिकारियों का रिपोर्ट आई निगेटिव, सीएम ने डॉक्टरों दी बधाई -

Friday, March 27, 2020

मदद : 200 से ज्यादा जरूरतमंद को खिलाया भोजन -

Friday, March 27, 2020

आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के सीएम त्रिवेन्द्र ने दिए निर्देश -

Friday, March 27, 2020

लॉकडाउन में रामायण की वापसी , दूरदर्शन पर एक बार फिर -

Friday, March 27, 2020

उत्तराखंड : आवश्यक वस्तुओं के लिए न लगाएं भीड़, 27 मार्च को समय हुआ प्रातः 7 बजे से दोपहर 1 बजे तक -

Thursday, March 26, 2020

दून पुलिस ने जारी किये हेल्पलाइन नंबर, जानिए खबर -

Thursday, March 26, 2020

उत्तराखंड : छात्रों से स्कूल खुलने के बाद ही लिया जाए शुल्क, सभी स्कूलों को निर्देश -

Thursday, March 26, 2020

घर पर रहे और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करे -

Thursday, March 26, 2020

कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए सरकार ने कई प्रभावी कदम उठाए : सीएम त्रिवेन्द्र -

Wednesday, March 25, 2020

नवरात्रि पर लोगों ने घरों में की पूजा-अर्चना -

Wednesday, March 25, 2020

शीघ्र टिहरी झील में उतरेंगे सी-प्लेन, जानिए खबर

झील महोत्सव में प्रतिभाग कर रहे 24 राज्यों के प्रतिनिधि

टिहरी / देहरादून | मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने टिहरी में तीन दिवसीय टिहरी लेक महोत्सव-2019 का शुभारम्भ किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि टिहरी झील हमारे लिये अनमोल धरोहर की तरह है, जिसमें देश-विदेश के पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करने की क्षमता है। इस झील में हमे उत्तराखण्ड के बच्चों का भविष्य नजर आता है। प्रदेश के युवाओं के बेहतर भविष्य एवं संकल्पना को साकार करने के लिये झील महोत्सव आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमें प्रदेश को पर्यटन प्रदेश के रूप में विकसित करना है। खर्चीलें टूरिस्ट यहां आयेंगे तो इस क्षेत्र की आर्थिकी को और मजबूती मिल सकती है। उन्होंने कहा कि हमें विश्वास है कि जो व्यक्ति टिहरी झील को देखेगा वह बार-बार यहां आयेगा। गत वर्ष 13 राज्यों के प्रतिभागी टिहरी झील महोत्सव में आये थे और इस बार 24 राज्यों के प्रतिनिधि इस महोत्सव में प्रतिभाग कर रहे हैं। प्रदेश सरकार द्वारा 13 जिले 13 डेस्टीनेशन की योजना पर कार्य किया जा रहा है।

टिहरी झील साहसिक पर्यटन का है प्रमुख केन्द्र

मुख्यमंत्री ने कहा कि नई टिहरी क्षेत्र को पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित करने के लिए सरकार प्रयासरत हैं। डोबरा-चांठी पुल के निर्माण के बाद टिहरी के दोनो ओर होटल, रिजोर्ट एवं शिक्षण संस्थान बनेगें। इससे पर्यटकों को अधिक सुविधाये उपलब्ध हो सकेंगी। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि टिहरी में आवागमन को सुगम बनाने के लिए प्रदेश सरकार ने एक मुश्त रूपये 88 करोड़ डोबरा-चांठी पुल निर्माण के लिए अवमुक्त किये हैं। ऑलवेदर रोड़ पर भी कार्य चल रहा है। ऑलवेदर रोड़ बनने के बाद ऋषिकेश से नई टिहरी पहुंचने में मात्र डेढ घण्टे का समय लगेगा।टिहरी झील में सी प्लेन उतारने के लिए भारत सरकार द्वारा सर्वेक्षण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। शीघ्र ही टिहरी झील में सी प्लेन उतारा जायेगा। अगले आने वाले 10-15 वर्षो में टिहरी का एक नया स्वरूप सामने आयेगा जो निश्चित रूप से देश व दुनिया को अपने ओर आकर्षित करने में मददगार रहेगा। गंगा नदी की स्वच्छता एवं निर्मलता बनाये रखने का आह्वान करते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने ‘‘यह कल-कल बहती गंगा की धारा क्या कहती….. ‘‘ पंक्तियों के माध्यम से पवित्रगंगा का स्मरण किया। उन्हांने कहा कि गंगा नदी हमें त्याग व समर्पण सीखाती है निर्मलता का संदेश देती है। हम सभी को गंगा की निर्मलता एवं स्वच्छता को बनाये रखने में योगदान देना होगा। उन्होंने टिहरी की जनता से अतिथि सत्कार की भावना विकसित करने की भी अपील की ताकि अधिक से अधिक पर्यटक टिहरी भ्रमण पर आने के लिए प्रेरित हों।

प्रदेश के युवाओं का भविष्य संवार रही है टिहरी झील

इस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने नई टिहरी साहसिक खेल अकादमी का नाम एवरेस्ट विजेता स्व0 दिनेश सिंह रावत के नाम पर रखे जाने की घोषणा की। उन्होंने मां राजेश्वरी महिला स्वयं सहायता समूह को सिलाई व्यवसाय, जागृति महिला वचन समूह को डेरी व्यवसाय एवं भगवती महिला स्वयं सहायता समूह को अगरबत्ती उद्योग विकसित करने के लिए जीरो प्रतिशत ब्याज पर रूपये पांच-पांच लाख के ऋण के चेक वितरित किये। इस अवसर पर जनपद के प्रभारी मंत्री धन सिंह रावत ने कहा कि टिहरी झील क्षेत्र के विकास के लिए प्रदेश सरकार द्वारा गत वर्षो से अभिनव प्रयास किये जा रहें है। पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने अपने सम्बोधन में कहा कि शासन की सोची समझी रणनीति के तहत ही टिहरी लेक महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। सरकार का मकसद टिहरी झील क्षेत्र की सूरत बदलना है। इस महोत्सव के माध्यम से देश-विदेश के पर्यटकों का ध्यान टिहरी क्षेत्र की ओर आकर्षित करना हैं। जिसके लिए शासन और प्रशासन कार्य कर रहा हैं। कार्यक्रम को टिहरी सांसद मालाराज लक्ष्मी शाह एवं क्षेत्रीय विधायक धन सिंह नेगी ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर विधायक विजय सिंह पंवार व शक्तिलाल शाह, गढवाल मण्डल विकास निगम के अध्यक्ष महाबीर सिंह रांगड, जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण, स्वामी चिदानंदमुनी, जिलाधिकारी सोनिका, पुलिस अधीक्षक डॉ योगेन्द्र सिंह रावत, मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगांई आदि उपस्थित थे।

Leave A Comment