Breaking News:

गोवा : अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का शुभारंभ, विशेष सत्र में उत्तराखंड को स्थान -

Wednesday, November 20, 2019

शिक्षकों की कमी से प्रभावित हो रही छात्रों की पढ़ाई, जानिए खबर -

Wednesday, November 20, 2019

सिपाही को ट्रैक्टर से कुचलने वाले आरोपी चालक गिरफ्तार -

Wednesday, November 20, 2019

मिस रेडिएंट स्किन और मिस ब्यूटीफुल हेयर उप प्रतियोगिताओं का आयोजन, जानिए खबर -

Wednesday, November 20, 2019

कोटद्वार में मुख्यमंत्री ने मुस्लिम योग शिविर का किया उद्घाटन -

Wednesday, November 20, 2019

उत्तराखंड : महसूस हुए भूकंप के झटके -

Tuesday, November 19, 2019

उत्तराखण्ड : समाज कल्याण विभाग के संयुक्त निदेशक गीताराम नौटियाल निलंबित -

Tuesday, November 19, 2019

मैट्रो से नही दून-ऋषिकेश व हरिद्वार को मिनी मैट्रो से जोड़ा जायेगा -

Tuesday, November 19, 2019

भोजपुरी फिल्म प्रोड्यूसर एवं फिल्म निर्देशक सीएम से की भेंट -

Tuesday, November 19, 2019

केदारनाथ परिसर में बनेगा भगवान शिव की पुरातात्विक महत्व की प्रतिमाओं का नया संग्रहालय, जानिए खबर -

Tuesday, November 19, 2019

कांग्रेस बागी विधायकों के लिए फिर दरवाजे खोलने को तैयार ! -

Monday, November 18, 2019

सीएम ने स्वच्छ कॉलोनी के पुरस्कार से किया सम्मानित, जानिए खबर -

Monday, November 18, 2019

पर्वतीय क्षेत्रों में 500 उपभोक्ता पर एक मीटर रीडर हो ,जानिए खबर -

Monday, November 18, 2019

ईरान एवं भारत में है गहरा सांस्कृतिक सम्बन्धः डॉ पण्ड्या -

Monday, November 18, 2019

गांधी पार्क में ओपन जिम का सीएम त्रिवेंद्र ने किया लोकार्पण -

Monday, November 18, 2019

स्मार्ट सिटी हेतु 575 करोड़ रूपए के कामों का हुआ शिलान्यास, जानिए खबर -

Sunday, November 17, 2019

मिसेज दून दिवा सेशन-2 के फिनाले में पहुंचे राहुल रॉय , जानिए खबर -

Sunday, November 17, 2019

शीघ्र ही नई शिक्षा नीति : निशंक -

Sunday, November 17, 2019

उत्तराखंड : युवा इनोवेटर्स ने विकसित किए ऊर्जा दक्ष वाहन -

Sunday, November 17, 2019

यमकेश्वर : कार्यरत स्टार्ट अप को मुख्यमंत्री ने दिए 10 लाख रूपए -

Sunday, November 17, 2019

सीएम ने 18 प्रगतिशील किसानों को किया सम्मानित

देहरादून | मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने ओ.एन.जी.सी. आॅडिटोरियम में भारतीय कृषि एवं खाद्य परिषद तथा अखिल भारतीय किसान संघ द्वारा आयोजित राज्य प्रगतिशील किसान सम्मेलन में प्रदेश के 18 प्रगतिशील किसानों को पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया। इस अवसर पर उन्होंने प्रो.बी.एस.बिष्ट को राज्य कृषि परिषद का चेयरमैन नामित करने के साथ ही परिषद की विवरणिका एवं वेबसाइट का भी लोकार्पण किया।  मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने आई.सी.एफ.ए. तथा ए.आई.एफ.ए. द्वारा प्रगतिशील किसानों को सम्मान देने के प्रयासों की सराहना करते हुए इसे किसानों को खेती से जोड़ने तथा कृषि के क्षेत्र में अभिनव प्रयोग वाला बताया। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे प्रयासों से खेती व किसानी के प्रति लोगों को जागरूक करने में भी मदद मिलेगी तथा इस क्षेत्र में काम कर रहे किसानों के प्रति लोगों का ध्यान भी आकर्षित होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड के पर्वतीय क्षेत्रों के विकास में महिलाओं की अग्रणी भूमिका है। तमाम घरेलू जिम्मेदारियों के निर्वह्न के बाद भी खेती व कृषि विकास में उनके द्वारा दिये जा रहे योगदान की जितनी सराहना की जाय कम है। उन्होंने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों में खेती से हटकर कार्य करने की दिशा में भी पहल की जा रही है, इसके लिये ग्रोथ सेंटरों की स्थापना की जा रही है। परम्परागत उत्पादों, प्राकृतिक फलों आदि की प्रोसेसिंग, गे्रडिंग, मार्केटिंग के साथ ही रेडीमेड गारमेंट्स, एल.ई.डी. बल्बों के उत्पादन आदि को इन ग्रोथ सेंटरों से जोड़ा जा रहा है। इन ग्रोथ सेंटरों में पूंजी निवेश पर सब्सिडी, ट्रांसपोर्ट पर रियायत आदि का भी ध्यान रखा गया है ताकि ग्रामीण क्षेत्रों को भी आर्थिक रूप से मजबूत होकर शहरी विकास की गति से जुड़ने में मदद मिल सकें। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में रेडीमेड गारमेंट्स तैयार करने के सिलाई सेंटर स्थापित होने व एल.ई.डी. उत्पादन केन्द्रों के विकसित होने से गांव आर्थिक गतिविधियों के केन्द्र बनेंगे। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास गांवों को आबाद कर जबरदस्ती के पलायन को रोकना है। इसके लिये हम एक नीति के तहत कार्य कर रहे है।  मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि हमें अपने उत्पादों में व्यवसायिक गुण विकसित करने की जरूरत है। हमारे लोग स्वभाव में संस्कारिक है। यदि हम केरल की पहाड़ियों के टी गार्डनों में खोले गये छोटे-छोटे होटलों की तरह चैकोड़ी व अन्य क्षेत्रों में ऐसे प्रयोग करें, तो इस ओर पर्यटक निश्चित रूप से आकर्षित होंगे। यहां पर ग्रीन टी के एक कप का भी अच्छा मूल्य मिल सकता है। इसके लिये सरकार द्वारा प्रोत्साहन नीति लागू की जा रही है। हाॅर्टि-टूरिज्म की दिशा में भी पहल की जा सकती है। यदि हमारे यहां पर्यटकों की संख्या बढे़गी तो राजस्व भी बढेगा तथा जनता को भी उसका फायदा मिलेगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने 18 किसानों को प्रगतिशील किसान पुरस्कार-2018 से सम्मानित किया। इसमें एग्रीबिजनेस लीडरशीप के लिये पौड़ी गढ़वाल के  दिनेश चन्द्र चमोली, बेस्ट एफ.पी.ओ. के लिये बागेश्वर की कपकोट सेवा समिति, कांट्रेक्ट फार्मिंग के लिये देहरादून के  सन्तराम, डेयरी फार्मिंग के लिये चमोली के किशन सिंह नेगी, फार्म एंटरप्रेन्योर के लिये रूद्रप्रयाग की  हर्सी देवी, फार्म लेवल प्रोसेसिंग के लिये रूद्रप्रयाग के रघुवीर सिंह कण्डवाल, फार्म मैकेनाईजेशन के लिये देहरादून के नित्यानन्द भट्ट, फार्म लीडरशिप के लिये नैनीताल के नरेन्द्र सिंह मेहता, फिशरीज फार्मिंग के लिये अल्मोड़ा के  महेश चन्द्र काण्डपाल, हाई-टैक हार्टीकल्चर के लिये अल्मोड़ा के बिपिन चन्द्र जोशी, इनोवेशन इन फाॅर्मिंग के लिये उत्तरकाशी के दलबीर सिंह चैहान, इंटीग्रेटेड फाॅर्मिंग के लिये नैनीताल के प्रकाश चन्द्र बेलवाल, मेडीशनल एण्ड एरोमैटिक के लिये देहरादून के अर्जुन सिंह, मोर क्राॅप पर ड्राॅप के लिये रूद्रप्रयाग के  महावीर सिंह राणा, आर्गेनिक फार्मिंग के लिये नैनीताल की श्रीमती कौशिका शर्मा, पाॅल्ट्री फाॅर्मिंग के लिये बागेश्वर की बीना देवी, प्रेसिजन फाॅर्मिंग के लिये चमोली के  प्रेम सिंह एवं एक्सटेंशन सर्विस एंड ट्रेनिंग के लिये नैनीताल के  अनिल पाण्डेय शामिल है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश के 05 अन्य किसानों को भी सम्मानित किया।

Leave A Comment