Breaking News:

हरेला पर कोसी नदी के पुनर्जीवन अभियान का सीएम त्रिवेंद्र ने किया शुभारम्भ -

Monday, July 16, 2018

क्रोएशिया को हरा फ्रांस 20 साल बाद बना चैंपियन -

Monday, July 16, 2018

मोहम्मद शहजाद बसपा से निष्कासित, जानिये खबर -

Monday, July 16, 2018

लकवाग्रस्त बीरा को हेल्पेज ने दिया सहारा, जानिये खबर -

Monday, July 16, 2018

रैंप वॉक कर मॉडल्स ने बिखेरे जलवे , जानिये खबर -

Monday, July 16, 2018

मैड के सदस्यों ने किया बाढ़ प्रभावित जगहों के निरक्षण के साथ मदद -

Monday, July 16, 2018

गरीबी से लड़कर अपना एक अलग मुकाम हासिल किया हिमा दास ने -

Sunday, July 15, 2018

विम्बलडन मैदान का एक बाज 10 साल से कर रहा निगरानी, जानिये खबर -

Sunday, July 15, 2018

ट्विंकल खन्ना के लिए अक्षय का ट्वीट मचा रहा धमाल -

Sunday, July 15, 2018

सबका साथ-सबका विकास की भावना ही सच्ची देशभक्ति : उपराष्ट्रपति -

Saturday, July 14, 2018

नाबालिगों से रेप मामले में मृत्युदंड कानून लाने पर सीएम का जताया आभार, जानिये खबर -

Saturday, July 14, 2018

जल्द बनेगा काशी स्मार्ट सिटी : मोदी -

Saturday, July 14, 2018

साहसिक खेलों से संबंधित उपकरणों की पर्यटन विभाग लगाएगा प्रदर्शनी -

Saturday, July 14, 2018

तीन अगस्त से दून में इडिया इंटरनेशनल फैशन डिजाइनर वीक -

Saturday, July 14, 2018

सीएम त्रिवेंद्र ने विकास कार्यों में तेजी लाने के दिए निर्देश -

Saturday, July 14, 2018

सेब की नई प्रजाति विकसित की, पौधे में एक वर्ष में ही शुरु हो जाता उत्पादन -

Saturday, July 14, 2018

स्कूल हो रोशन इस लिए बिजली विभाग के कर्मचारियों ने दिया एक दिन का वेतन , जानिए खबर -

Friday, July 13, 2018

किसानों को धान का मूल्य समय पर : त्रिवेन्द्र सिंह रावत -

Friday, July 13, 2018

मुझे रेस 3 में काम करने से रोका गया था : अनिल कपूर -

Friday, July 13, 2018

भारत में पाकिस्तानी रेसलर दिखाएँगे अपनी पहलवानी , जानिये खबर -

Friday, July 13, 2018

सीएम ने 18 प्रगतिशील किसानों को किया सम्मानित

देहरादून | मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने ओ.एन.जी.सी. आॅडिटोरियम में भारतीय कृषि एवं खाद्य परिषद तथा अखिल भारतीय किसान संघ द्वारा आयोजित राज्य प्रगतिशील किसान सम्मेलन में प्रदेश के 18 प्रगतिशील किसानों को पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया। इस अवसर पर उन्होंने प्रो.बी.एस.बिष्ट को राज्य कृषि परिषद का चेयरमैन नामित करने के साथ ही परिषद की विवरणिका एवं वेबसाइट का भी लोकार्पण किया।  मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने आई.सी.एफ.ए. तथा ए.आई.एफ.ए. द्वारा प्रगतिशील किसानों को सम्मान देने के प्रयासों की सराहना करते हुए इसे किसानों को खेती से जोड़ने तथा कृषि के क्षेत्र में अभिनव प्रयोग वाला बताया। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे प्रयासों से खेती व किसानी के प्रति लोगों को जागरूक करने में भी मदद मिलेगी तथा इस क्षेत्र में काम कर रहे किसानों के प्रति लोगों का ध्यान भी आकर्षित होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड के पर्वतीय क्षेत्रों के विकास में महिलाओं की अग्रणी भूमिका है। तमाम घरेलू जिम्मेदारियों के निर्वह्न के बाद भी खेती व कृषि विकास में उनके द्वारा दिये जा रहे योगदान की जितनी सराहना की जाय कम है। उन्होंने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों में खेती से हटकर कार्य करने की दिशा में भी पहल की जा रही है, इसके लिये ग्रोथ सेंटरों की स्थापना की जा रही है। परम्परागत उत्पादों, प्राकृतिक फलों आदि की प्रोसेसिंग, गे्रडिंग, मार्केटिंग के साथ ही रेडीमेड गारमेंट्स, एल.ई.डी. बल्बों के उत्पादन आदि को इन ग्रोथ सेंटरों से जोड़ा जा रहा है। इन ग्रोथ सेंटरों में पूंजी निवेश पर सब्सिडी, ट्रांसपोर्ट पर रियायत आदि का भी ध्यान रखा गया है ताकि ग्रामीण क्षेत्रों को भी आर्थिक रूप से मजबूत होकर शहरी विकास की गति से जुड़ने में मदद मिल सकें। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में रेडीमेड गारमेंट्स तैयार करने के सिलाई सेंटर स्थापित होने व एल.ई.डी. उत्पादन केन्द्रों के विकसित होने से गांव आर्थिक गतिविधियों के केन्द्र बनेंगे। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास गांवों को आबाद कर जबरदस्ती के पलायन को रोकना है। इसके लिये हम एक नीति के तहत कार्य कर रहे है।  मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि हमें अपने उत्पादों में व्यवसायिक गुण विकसित करने की जरूरत है। हमारे लोग स्वभाव में संस्कारिक है। यदि हम केरल की पहाड़ियों के टी गार्डनों में खोले गये छोटे-छोटे होटलों की तरह चैकोड़ी व अन्य क्षेत्रों में ऐसे प्रयोग करें, तो इस ओर पर्यटक निश्चित रूप से आकर्षित होंगे। यहां पर ग्रीन टी के एक कप का भी अच्छा मूल्य मिल सकता है। इसके लिये सरकार द्वारा प्रोत्साहन नीति लागू की जा रही है। हाॅर्टि-टूरिज्म की दिशा में भी पहल की जा सकती है। यदि हमारे यहां पर्यटकों की संख्या बढे़गी तो राजस्व भी बढेगा तथा जनता को भी उसका फायदा मिलेगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने 18 किसानों को प्रगतिशील किसान पुरस्कार-2018 से सम्मानित किया। इसमें एग्रीबिजनेस लीडरशीप के लिये पौड़ी गढ़वाल के  दिनेश चन्द्र चमोली, बेस्ट एफ.पी.ओ. के लिये बागेश्वर की कपकोट सेवा समिति, कांट्रेक्ट फार्मिंग के लिये देहरादून के  सन्तराम, डेयरी फार्मिंग के लिये चमोली के किशन सिंह नेगी, फार्म एंटरप्रेन्योर के लिये रूद्रप्रयाग की  हर्सी देवी, फार्म लेवल प्रोसेसिंग के लिये रूद्रप्रयाग के रघुवीर सिंह कण्डवाल, फार्म मैकेनाईजेशन के लिये देहरादून के नित्यानन्द भट्ट, फार्म लीडरशिप के लिये नैनीताल के नरेन्द्र सिंह मेहता, फिशरीज फार्मिंग के लिये अल्मोड़ा के  महेश चन्द्र काण्डपाल, हाई-टैक हार्टीकल्चर के लिये अल्मोड़ा के बिपिन चन्द्र जोशी, इनोवेशन इन फाॅर्मिंग के लिये उत्तरकाशी के दलबीर सिंह चैहान, इंटीग्रेटेड फाॅर्मिंग के लिये नैनीताल के प्रकाश चन्द्र बेलवाल, मेडीशनल एण्ड एरोमैटिक के लिये देहरादून के अर्जुन सिंह, मोर क्राॅप पर ड्राॅप के लिये रूद्रप्रयाग के  महावीर सिंह राणा, आर्गेनिक फार्मिंग के लिये नैनीताल की श्रीमती कौशिका शर्मा, पाॅल्ट्री फाॅर्मिंग के लिये बागेश्वर की बीना देवी, प्रेसिजन फाॅर्मिंग के लिये चमोली के  प्रेम सिंह एवं एक्सटेंशन सर्विस एंड ट्रेनिंग के लिये नैनीताल के  अनिल पाण्डेय शामिल है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश के 05 अन्य किसानों को भी सम्मानित किया।

Leave A Comment