Breaking News:

आईपीएल : पंजाब टीम ने कोटला की पिच को धीमा करार दिया -

Friday, April 19, 2019

दून संस्कृति ने धूमधाम से मनाई बैसाखी -

Friday, April 19, 2019

सचिवालय कूच करेंगे 108 सेवा के कर्मचारी , जानिए ख़बर -

Friday, April 19, 2019

हनुमान जयंती पर सुंदरकांड का आयोजन, 51 किलो का लड्डू चढ़ाया -

Friday, April 19, 2019

दिव्यांग बच्चे किसी से कम नहीं होते : राज्यपाल -

Friday, April 19, 2019

फिल्म ‘मेंटल है क्या’ के लिए खड़ी हुई नई मुश्किल , जानिए ख़बर -

Friday, April 19, 2019

विभिन्न सामाजिक कार्यों के साथ अनमोल इंडस्ट्रीज ने पूरे किये अपने 25 वर्ष -

Thursday, April 18, 2019

पत्रकार बिजेन्द्र कुमार यादव पर हुए प्राणघातक हमले के मामले की होगी जांच, डीजीपी ने दिए आदेश -

Thursday, April 18, 2019

IPL 2019: ‘ब्रोमांस’ करते नजर आए धवन और पंड्या -

Thursday, April 18, 2019

सेना अधिकारी है दिशा की बहन शेयर की वर्दी वाली तस्वीर -

Thursday, April 18, 2019

दो बच्चों की मां छह बच्चों के पिता के साथ शादी की जिद पर अड़ी, जानिये खबर -

Thursday, April 18, 2019

उत्तराखंड : अप्रैल में बर्फबारी …. -

Thursday, April 18, 2019

बल्लीवाला फ्लाईओवर तीन सालों के भीतर ली 20 लोगों की मौते -

Thursday, April 18, 2019

जून के पहले सप्ताह में उत्तराखण्ड बोर्ड का परीक्षा परिणाम ! -

Wednesday, April 17, 2019

चैपिंयन मामले में अंतिम फैसला केंद्रीय नेतृत्व का : भट्ट -

Wednesday, April 17, 2019

उत्तराखंड : बारिश और बर्फबारी से फिर ठंड ने दी दस्तक -

Wednesday, April 17, 2019

बारातघर में घुसी बेकाबू कार, तीन लोगों की मौत -

Wednesday, April 17, 2019

बेटे रोहित की मौत प्राकृतिक : उज्जवला शर्मा -

Tuesday, April 16, 2019

ऊंचाई वाले इलाकों में हुई बर्फवारी -

Tuesday, April 16, 2019

स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ करने को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव से चर्चा की -

Tuesday, April 16, 2019

सीरियाई सरकार ने फिर केमिकल हथियारों का इस्तेमाल किया, तो फिर होगा हमला: अमेरिका

donald-trump

सीरिया पर मिसाइल हमले के बाद अमेरिका ने कहा कि अगर सीरियाई सरकार ने फिर केमिकल हथियारों का इस्तेमाल किया, तो उस पर अमेरिका और उसके सहयोगी देश हमला करेंगे. उधर, सीरिया पर हमले का मिशन पूरा होने के बाद अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने भी सुरक्षा परिषद का रुख किया. सुरक्षा परिषद में फ्रांस ने सीरिया में केमिकल हमले की जांच करने का प्रस्ताव पेश किया है. फ्रांस के इस प्रस्ताव का अमेरिका और ब्रिटेन ने समर्थन किया है. हालांकि रूस सीरिया में केमिकल हमले के आरोपों को खारिज करता आ रहा है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सीरिया पर केमिकल हमले के लिए वहां की बशर अल-असद सरकार, रूस और ईरान को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में रूस और अमेरिका आमने-सामने आ गए हैं. इस वैश्विक मंच पर अमेरिका के साथ फ्रांस और ब्रिटेन हैं, तो रूस के साथ चीन खड़ा नजर आ रहा है. सीरिया, रूस, ईरान और चीन ने अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन की ओर से किए गए हवाई हमले की कड़ी निंदा की है. साथ ही इस सैन्य कार्रवाई को अंतरराष्ट्रीय कानून का खुला उल्लंघन करार दिया है. शनिवार को सीरिया पर अमेरिकी मिसाइल हमले रुके भी नहीं थे और रूस ने सुरक्षा परिषद की आपात बैठक बुलाई, जहां रूस ने सीरिया में अमेरिकी हमले की निंदा करने का प्रस्ताव रखा. हालांकि रूस के इस प्रस्ताव को सुरक्षा परिषद ने खारिज कर दिया. वहीं, अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने सीरिया पर मिसाइल हमले की कार्रवाई को सही ठहराने की कोशिश की. ब्रिटेन ने कहा कि सीरिया पर हमला करने के सिवाय कोई विकल्प ही नहीं था. ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने दुनिया के देशों से सीरिया पर मिसाइल हमले का समर्थन करने की अपील की है. इस मसले पर फ्रांस का कहना है कि सीरियाई सरकार ने अपने लोगों के खिलाफ केमिकल हथियारों का इस्तेमाल करके अंतरराष्ट्रीय कानूनों की धज्जियां उड़ाईं और सुरक्षा परिषद में रूस ने सीरिया पर सैन्य कार्रवाई के प्रस्ताव पर वीटो का इस्तेमाल करके अड़ंगा लगाया.

Leave A Comment