Breaking News:

आर्धिक तंगी से जूझ रही टेलिविजन जगत की कलाकार, जानिए खबर -

Tuesday, December 12, 2017

कुली से सुपरस्‍टार तक रजनीकांत, जानिए खबर -

Tuesday, December 12, 2017

केदारनाथ में जबरदस्त बर्फबारी -

Tuesday, December 12, 2017

जनसुनवाई दिवस में डीएम ने सुनी समस्याएं -

Tuesday, December 12, 2017

कैदियों को स्वालम्बी बनाने के लिये करनी होगी नई पहल : डीएम -

Tuesday, December 12, 2017

उत्तराखंड सरकार की हाईकोर्ट ने की तारीफ -

Monday, December 11, 2017

शादीशुदा जोड़ों का अनोखा शो ‘‘आपकी खूबसूरती उनकी नज़र से’’ -

Monday, December 11, 2017

जज्बा हो तो सब मुमकिन है, जानिये खबर -

Monday, December 11, 2017

जन क्रांति विकास मोर्चा ने ड्रग माफियाओं का फूंका पुतला -

Monday, December 11, 2017

गरीब बच्चो का हक न मारे रावत सरकार : आम आदमी पार्टी -

Monday, December 11, 2017

पर्वतीय क्षेत्र में विकास मील का पत्थर होगा साबित : मुख्यमंत्री -

Monday, December 11, 2017

मैड संस्था ने नगर निगम को सुझाया साफ़ सफाई रूपी “रास्ते” -

Monday, December 11, 2017

मां नहीं बन सकी पर 51 बेसहारा बच्चों की है माँ -

Saturday, December 9, 2017

गहरी निंद्रा में सोया है आपदा प्रबंधन विभाग, जानिए खबर -

Saturday, December 9, 2017

राज्य सरकार लोकायुक्त को लेकर गंभीर नहींः इंदिरा ह्रदयेश -

Saturday, December 9, 2017

सरकार ने जनता की आशाओं को विश्वास में बदलाः सीएम -

Saturday, December 9, 2017

उत्तराखण्ड क्रिकेट के हित में एक मंच पर आएं क्रिकेट एसोसिएशन: दिव्य नौटियाल -

Saturday, December 9, 2017

बीजेपी सांसद मोदी की कार्यशैली से नाराज होकर दिया इस्तीफा -

Friday, December 8, 2017

चीन की रिटेल कारोबार पर बढ़ती पकड़ से भारतीय रिटेलर परेशान -

Friday, December 8, 2017

जरूरतमंद लोगों के लिए गर्म कपड़े डोनेशन कैंप की शुरूआत -

Friday, December 8, 2017

हामिद अंसारी को “असुरक्षा” का माहौल था तो पहले देते इस्तीफा : शिवसेना

vice-president-india

नई दिल्ली। देश के मुसलमानों में असुरक्षा संबंधी उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के बयान पर बीजेपी और शिवसेना नेताओं ने तीखी टिप्पणी की है. बीजेपी नेताओं ने इस बयान को पद की गरिमा के खिलाफ बताया है तो शिवसेना ने इससे भी तीखी टिप्पणी करते हुए कहा है कि अगर उनको मुस्लिमों में असुरक्षा की भावना दिख रही थी, तो पहले ही इस्तीफा देकर जनता के बीच जाना चाहिए था। उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के बयान पर शिवसेना ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है.शिव सेना नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि अगर हामिद अंसारी जी को मुस्लिमों में बेचैनी और असुरक्षा की भावना दिखती है तो इस विषय को लेकर उन्होंने पहले ही अपने पद से इस्तीफा क्यों नहीं दे दिया. अब जब वह जा रहे हैं, तब इस तरीके का बयान दे रहे हैं. उनको पहले ही इस्तीफा देकर जनता के बीच मे जाना चाहिए. संजय राउत ने कहा कि अल्पसंख्यक मुस्लिम के लिए देश मे बहुसंख्यक हिंदुओं को गलत नजरिए से देखा जाता है. देश की पूरी मशीनरी मुस्लिमों की सुरक्षा में लगा दी गई है। गौरतलब है कि निवर्तमान उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने एक इंटरव्यू में कहा कि देश के मुस्लिमों में बेचैनी का अहसास और असुरक्षा की भावना है. उपराष्ट्रपति के तौर पर 80 साल के अंसारी का दूसरा कार्यकाल गुरुवार को पूरा हो रहा है. उन्होंने यह टिप्पणी ऐसे समय में की है जब असहनशीलता और कथित गोरक्षकों की गुंडागर्दी की घटनाएं सामने आई हैं. हामिद अंसारी ने कहा कि उन्होंने असहनशीलता का मुद्दा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके कैबिनेट सहयोगियों के सामने उठाया है. उन्होंने इसे ‘परेशान करने वाला विचार’ करार दिया कि नागरिकों की भारतीयता पर सवाल उठाए जा रहे हैं। बीजेपी नेता गिरीराज सिंह ने कहा कि पूरी दुनिया में भारत के नागरिकों से ज्यादा कोई सुरक्षित नहीं है. उन्होंने कहा, ‘यहां कोई कुछ भी कह सकता हैं, कोई भी पत्थरबाजों का समर्थन कर सकता हैं, कोई भी अलगाववादियों का समर्थन कर सकता हैं. यहां आधी रात को आतंकियों के लिए कोर्ट खुल सकते हैं, इसलिए भारत में हिंदू और मुसलमान सभी सुरक्षित हैं. भारत जैसा देश कोई नहीं मिलेगा. भारत जैसा अभिव्यक्ति की आजादी वाला देश नहीं मिलेगा. भारत में जो चाहे किसी को गाली दे दे. लेकिन भारत में रहना है तो कानून एक ही होगा. अयोध्या पर एक कघनून और ट्रिपल तलाकघ् पर दूसरा कघनून, भारत में ये नहीं चलेगा। बीजेपी नेता साक्षी महाराज ने भी कहा कि वह हामिद अंसारी के बयान से सहमत नहीं हैं. उन्होंने कहा, ‘भारत में जितने मुसलमान सुरक्षित हैं, दुनिया में कहीं भी नहीं हैं. देश में जबसे मोदी जी प्रधानमंत्री बने हैं, कोई भी साम्प्रदायिक दंगा नहीं हुआ. जबसे योगी जी मुख्यमंत्री बने हैं यूपी में भी कोई दंगा नहीं हुआ है. हालांकि पत्थर फेंकने वाले, बम फेंकने वाले आतंकवादी सुरक्षित नहीं हैं. ये दुर्भाग्य की बात है कि वे (हामिद अंसारी) तीन साल तक मौज मारते रहे, जब कुर्सी से विदाई का समय आ गया, तो उन्हें मुसलमान असुरक्षित लगने लगा है, इससे बड़ा दुर्भाग्य कुछ नहीं हो सकता है. मुझे लगता है कि वे किसी पार्टी की सदस्यता लेने वाले हैं, इसलिए इस तरह के बयान दे रहे हैं. ये देश संविधान से चलेगा न कि फतवों से और किसी के विचारों से चलेगा।

Leave A Comment