Breaking News:

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1153 आज 68 नए मरीज मिले -

Thursday, June 4, 2020

पांच जून को अधिकांश जगह बारिश की संभावना -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1145 -

Thursday, June 4, 2020

जागरूकता और सख्ती पर विशेष ध्यान हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, June 4, 2020

दुःखद : बॉलीवुड कास्टिंग निदेशक का निधन -

Thursday, June 4, 2020

वक्त का फेर : चैम्पियन तीरंदाज सड़क पर बेच रही सब्जी -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या 1085 हुई , 42 नए मरीज मिले -

Wednesday, June 3, 2020

अभिनेत्री ने जहर खाकर की खुदकुशी, जानिए खबर -

Wednesday, June 3, 2020

मुझे बदनाम करने की साजिश : फुटबॉल कोच विरेन्द्र सिंह रावत -

Wednesday, June 3, 2020

मोदी 2.0 : पहले साल लिए गए कई ऐतिहासिक निर्णय -

Wednesday, June 3, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 1066 हुई -

Wednesday, June 3, 2020

सराहनीय पहल : एक ट्वीट से अपनों के बीच घर पहुंचा मानसिक दिव्यांग मनोज -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1043 -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में करें अब आनलाईन आवेदन -

Tuesday, June 2, 2020

10 वर्षीय आन्या ने अपने गुल्लक के पैसे देकर मजदूर का किया मदद -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 999 हुई, 243 मरीज हुए ठीक -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 958 -

Monday, June 1, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या 929 हुई, चम्पावत में 15 नए मामले मिले -

Monday, June 1, 2020

जागरूकता: तंबाकू छोड़ने की जागरूकता के लिए स्वयं तत्पर होना जरूरी -

Monday, June 1, 2020

मदद : गांव के छोटे बच्चों को पढ़ा रही भावना -

Monday, June 1, 2020

नरसंहार के आरोपी बरी, एक ही समुदाय के 42 लोगो की हुई थी हत्या

28 साल पूर्व हुए हाशिमपुरा काण्ड की यादे फिर ताज़ा हो गयी जब दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने इस काण्ड पर एक फैसला सुनाते हुए, सभी 16 आरोपियों को बरी कर दिया है | आपको बताते चले 28 वर्ष पूर्व इस मामले ने देश की राजनीति को हिला कर रख दिया था |मालूम हो कि इस कांड के 19 आरोपियों में से अब सोलह ही जिंदा बचे हैं. दंगे का गवाह 161 लोगों को बनाया गया था.  इन्ही 161 लोगो की गवाही के आधार पर दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने ये फैसला सुनाया है | संदेह का लाभ देते हुए कोर्ट ने सबूत के आभाव में सभी आरोपियों को बरी किया |

हाशिमपुरा

गौरतलब है की आज से लगभग 28 वर्ष पूर्व हाशिमपुरा में ये कांड हुआ था,फरवरी, 1986 में राजीव गांधी सरकार के अयोध्या में विवादित ढांचे का ताला खुलवाने के बाद उत्तर भारत के कई बड़े शहरों में दंगा शुरू हो गया था,और  जनपद में अप्रैल 1987 में दंगा भड़का, हालांकि इसे बाद में काबू भी कर लिया गया था. इसके बाद सुरक्षा बलों की 38 टुकड़ियों को हटा लिया गया. लेकिन फिर 18 मई को दोबारा से शहर में फसाद शुरू हो गया. इस के अलावा 18 और 19 मई को मेरठ में भयानक दंगा भड़का, लेकिन हाशिमपुरा और आसपास के मुहल्ले शांत थे. लेकिन 21 मई को हाशिमपुरा के बगल के मुहल्ले में एक युवक की हत्या के बाद माहौल गरमा गया. देखते ही देखते कई इलाकों में मारकाट मचने लगी. दुकान और मकान फूंके जाने लगे. हाशिमपुरा के एक ही समुदाय के 42 लोगों की हत्या कर दी गई |

 

Leave A Comment